कहानी AK-47 की, जिसकी पूरी दुनिया है दीवानी!

हमारी दुनिया में जंग का सिलसिला हजारों सालों से चला आ रहा है| लेकिन अलग अलग समय पर जंग के लिए अलग-अलग हथियारों का उपयोग किया गया| जैसे कि शुरुआती समय में लोग पत्थरों का प्रयोग करते थे और धीरे-धीरे तीर-धनुष, तलवारों का उपयोग होने लगा और फिर एक सेना दूसरी सेना से बेहतर होने के लिए अलग-अलग हथियार बनाने लगी और इसी क्रम में आज से 500 साल पहले आविष्कार हुआ बंदूक का जिसने की युद्ध के तरीके को बदल दिया| उस टाइम रॉक एंड फायर टाइप के बंदूक इस्तेमाल किए जाते थे लेकिन आगे चलकर भी बंदूकों की दुनिया में भी काफी सारे बदलाव आए और समय के साथ-साथ इसकी भी टेक्नोलॉजी में सुधार आता रहा|  

दुनिया के 10 सबसे छोटे देश! जनसंख्या 800 व क्षेत्रफल 0.44 वर्ग किलोमीटर!

Story of AK-47 In Hindi 

दुनिया भर के सैनिक जंग के मैदान में दुश्मनों के छक्के छुड़ाने के लिए AK-47 नाम से पहचाने जाने वाली ऑटोमैटिक राइफल का इस्तेमाल करते है. लेकिन क्या आपको पता है कि यह किसने और क्यों बनाया था? इस बंदूक को बनाने के पीछे भी बड़ी दिलचस्प कहानी है और यह कहानी शुरू होती है आज से 78 साल पहले से जब 1940 में दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान MIKHAIL KALASHNIKOV नाम के एक आदमी को कंधे पर गोली लग गई| दरअसल MIKHAIL सोवियत सेना में एक टैंक कमांडर थे और गोली लगने के बाद उनको हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया गया उसी दौरान सेना के कुछ सिपाहियों ने सोवियत सेना की खराब राइफल क्वालिटी और जर्मन राइफल की तुलना में उनकी रायफल काफी कमजोर होने की बात कही जिससे कि SOVIYAT  सैनिकों की बड़ी संख्या में जान जा रही थी. इन्हीं समस्याओं को देखते हुए MIKHAIL ने एक बेहतरीन वेपन डिजाइन करने का निश्चय किया और अस्पताल से छूटने के बाद उन्होंने इस प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया|

भारत ही नही दुनिया के इन 10 देशों में भी पाए जाते है हिन्दू!

Story of AK-47 In Hindi 

MIKHAIL मिशन 1942 में सब मशीन गन व 1943 में एक लाइट मशीन गन पर काम किया और फिर सन 1944 में उन्होंने सेमी आटोमेटिक गैस से ऑपरेट होने वाली एक बंदूक बनाई| सन 1946 में फिर वह एक नई बंदूक के साथ सामने आए जिसका नाम उन्होंने AK-46 रखा और फिर नवंबर 1947 में MIKHAIL ने पुरानी सभी बंदूकों से सीख लेकर काफी सारे बदलाव के बाद एक नई बंदूक पर काम  किया| जिसके प्रोटोटाइप में बैरल के ऊपर एक लंबी गैस पिस्टम फिट थी और इसी राइफल का नाम AK-47.

भारत के टॉप न्यूज़ एंकर महीने में कितना कमाते हैं और ये पढ़े कितने है?

Image result for AK-47

बंदूक का डिजाइन काफी सिंपल था और इसे इस्तेमाल करना भी काफी आसान था| इस बंदूक को 1948 में ट्रायल के लिए आर्मी को दे दिया गया| आर्मी ने भी इसे हर कंडीशन में यूज करने के लिए सबसे बेहतरीन हथियार बताया और फिर 1949 से ही यह राइफल सोवियत और रूसी सेना के साथ है| साथ ही दुनिया भर के लगभग 106 देशों के सैनिक इस राइफल का प्रयोग करते हैं. AK-47 नाम में A काम मतलब ऑटोमेटिक, K का मतलब KALASNIKOV साथ ही 1947 में इसका आविष्कार हुआ था तो 47 वहां से लिया गया और इसके डिजाइनर MIKHAIL ने इस बंदूक से अपने पूरे जीवन में एक भी पैसा नहीं कमाया| इस आविष्कार को वह अपने देश की सेवा मानते थे और MIKHAIL की मृत्यु भी अभी कुछ साल पहले 2013 में हुई उस समय उनकी उम्र 94 साल थी.

निजी सुख के लिए इस आदमी ने एक रात में खर्च कर दिए 65 करोड़!

Follow us on Facebook

दुनिया के 10 सबसे छोटे देश! जनसंख्या 800 व क्षेत्रफल 0.44 वर्ग किलोमीटर!

अगर आपसे पूछा जाए की दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है तो आप सोच में पड़ सकते हैं| क्योंकि ये छोटे देश इतने छोटे हैं कि आप यकीन नहीं कर पाएंगे. यह भारत के किसी शहर, कस्बे या फिर किसी राज्य के किसी जिले के बराबर हैं| आज हम आपको क्षेत्रफल के हिसाब से दुनिया के 10 सबसे छोटे देशों के बारे में बताएंगे|

10 smallest countries in the world

10.माल्टा:- यह क्षेत्रफल के हिसाब से 10वा सबसे छोटा देश है| 11 मार्च सन 904 ईसवी को माल्टा द्वीप इस्लामी क्षेत्रों में शामिल हो गया था| सन 1091 इसवी तक इस द्वीप पर मुसलमानों का शासन रहा. माल्टा कई छोटे द्वीपों पर आधारित है इसका क्षेत्रफल 316 वर्ग किलोमीटर है| माल्टा द्वीप यूरोपिय महाद्वीप के दक्षिण में स्थित है| यह इटली के निकट है यह भारत में गुजरात के सूरत शहर से भी छोटा है|

भारत ही नही दुनिया के इन 10 देशों में भी पाए जाते है हिन्दू!

10 smallest countries in the world

9. मालदीव:- मालदीव जनसंख्या व क्षेत्रफल दोनों ही प्रकार से एशिया का सबसे छोटा देश है| यह दुनिया का 9 वा सबसे छोटा देश है| यह लक्ष्य दीप सागर में स्थित है| इसका क्षेत्रफल 298 किलोमीटर स्क्वायर है. पर्यटन दृष्टिकोण से मालदीव भी लोगों को खूब आकर्षित करता है|

भारत के टॉप न्यूज़ एंकर महीने में कितना कमाते हैं और ये पढ़े कितने है?

8. सेंट किट्स एवम नेविस:- सेंट किट्स एवम नेविस का क्षेत्रफल 261 वर्ग किलोमीटर है| पूर्वी केरियेबन सागर में स्थित इस देश की लोगों की इनकम का जरिया टूरिस्ट और खेती है| क्षेत्रफल और जनसंख्या के लिए लिहाज से दक्षिण अमेरिका और उत्तरी अमेरिका का सबसे छोटा संप्रभु राष्ट्र है|

Image result for Marshall Islands

7. मार्शल द्वीप:- मध्य सागर में स्थित मार्शल द्वीप दुनिया का सातवां सबसे छोटा देश है| 181 किलोमीटर में फैला यह देश अमेरिका से अलग होकर 1986 में अस्तित्व में आया था लेकिन इनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी आज भी अमेरिका के पास है| इसकी जनसंख्या लगभग 53066 है|

90 करोड़ का नंबर! दुनिया की 5 सबसे महंगी नंबर पलेट जिनकी कीमत जानकर हैरान हो जाएंगे!

Image result for liechtenstein country city photos

6. Liechtenstein:- यूरोप का यह देश स्विट्ज़रलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच स्थित है| यह दुनिया का छठा सबसे छोटा देश है| इसका क्षेत्रफल 160.4 वर्ग किलोमीटर है| यहां की जनसंख्या लगभग 37 हजार है| यह क्षेत्रफल के हिसाब से पंजाब में स्थित अमृतसर से भी छोटा है|

Related image

5. सेन मेरिनो:- सैन मैरिनो दुनिया का पांचवां सबसे छोटा देश है| 61 वर्ग किलोमीटर में फैला सैन मैरिनो की खोज 301 ईस्वी में हुई थी| यह दुनिया के प्राचीन देशों में से एक है| इसे यूरोप का सबसे पुराना गणराज्य माना जाता है. यहां पर जनसंख्या 27 हजार है|

अंबानी परिवार की 10 खास बातें जो बहुत कम लोग जानते है

Image result for तुवालु country beach photo with people

4. तुवालु:- यह दुनिया का चौथा सबसे छोटा देश है 26 वर्ग किलोमीटर में फैले इस देश को 1978 में ब्रिटेन से आजादी मिली थी| यह भारत के राजस्थान में स्थित उदयपुर शहर से भी छोटा है| 12373 लोगों की जनसंख्या के साथ यह दुनिया का कम जनसंख्या वाला संप्रभु देश है|

Related image

3. नौरू:- दुनिया का सबसे तीसरा सबसे छोटा देश नौरू का क्षेत्रफल 21.3 वर्ग किलोमीटर है| इस देश के पास अपनी कोई मिलिट्री नहीं है| यहां की जनसंख्या 13 हजार है| यह भारत के एक कस्बे के बराबर है|

निजी सुख के लिए इस आदमी ने एक रात में खर्च कर दिए 65 करोड़!

Related image

2.मोनाको:- यूरोप का मोनाको दुनिया का सबसे छोटा देश है| 20 सालों से लगातार समुद्री लहरों के कारण अब इसका क्षेत्रफल महज 20.2 वर्ग किलोमीटर रह गया है| यह पर्यटन की दृष्टिकोण से बेहतरीन देश है| यहां दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा प्रति व्यक्ति करोड़पति है|

1. वेटिकन सिटी:- यह दुनिया का सबसे छोटा देश है| इसका क्षेत्रफल 0.44 वर्ग किलोमीटर है| यहां की जनसंख्या 800 है| हालांकि दिन में काम करने वाले लोगों की संख्या 1000 है| यहां पर कई शानदार इमारतें हैं| जो लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचती है| यह इटली के शहर रोम के अंदर स्थित है| इसकी राजभाषा है लातीनी| ईसाई धर्म की प्रमुख संप्रदाय रोमन कैरथोलिक चर्च का यही केंद्र है और इस संप्रदाय के सर्वोच्च धर्मगुरु पोप का यही निवास है| यह नगर एक प्रकार से रोम नगर का एक छोटा सा भाग है|

चिप्स के पैकेट में चिप्स के अलावा और क्या होता है? मजेदार फैक्ट्स

दोस्तों अगर भारतीय इन देशों में चले जाये तो वो क्या कर सकते है? क्या इंडियन इन देशो पर कब्जा कर सकते है… अपनी बात कमेंट में जरुर बताये

Follow us on Facebook

भारत ही नही दुनिया के इन 10 देशों में भी पाए जाते है हिन्दू!

भारत के ज्यादातर लोग यही मानते हैं कि हिंदू धर्म सिर्फ भारत में ही मौजूद है लेकिन हिंदू धर्म भारत के अलावा काफी देशों में फैला हुआ है जो कई दसको से वहां रहते हैं| आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है कि भारत में हिंदुओं की मात्रा दुनिया में सबसे अधिक नहीं है| आज हम आपको बताएंगे कि भारत को छोड़कर दुनिया की 10 देशों के बारे में जहां हिंदू आबादी सबसे ज्यादा पाई जाती है| 

Hindus are found not only in India but also in these 10 countries of the world.

नेपाल:- नेपाल में हिंदुओं की आबादी कुल आबादी का लगभग 81 प्रतिशत से भी काफी ज्यादा है| जबकि भारत में हिंदुओं की आबादी 79 प्रतिशत के आसपास है| नेपाल में हिंदुओं की संख्या लगभग 2 करोड़ के आसपास है और रहन-सहन के लिहाज से भारतीय हिंदुओं से काफी अलग माने जाते हैं|

एंबुलेंस पर लिखा Ambulance वर्ड उल्टा क्यों लिखा होता है

MAURITIUS:- Mauritius में हिंदुओं की आबादी लगभग 48% है जबकि यहां पर ईसाई की आबादी 33% और मुसलमानों की आबादी लगभग 70% के आसपास है| Mauritius में हिंदुओं की कुल आबादी लगभग 6 लाख है और यहां के ज्यादातर हिंदू भोजपुरी बोलने वाले बिहारी संप्रदाय से आते हैं|

भारत के टॉप न्यूज़ एंकर महीने में कितना कमाते हैं और ये पढ़े कितने है?

प्रशांत महासागर में स्थित फिजी:- फिजी में हिंदुओं की आबादी लगभग 28% है और यहां पर हिंदुओं की कुल संख्या 2 लाख 80 हजार के आसपास है.

भूटान:- जहां हिंदुओं की आबादी 25% से भी अधिक है|

साउथ अमेरिका में स्थित गुयाना:- यहां पर हिंदुओं की आबादी लगभग 24 पर्सेंट है| यहां पर हिंदुओं की कुल जनसंख्या 1 लाख 90 हजार के आसपास है|

निजी सुख के लिए इस आदमी ने एक रात में खर्च कर दिए 65 करोड़!

साउथ अमेरिका में स्थित देश सूरीनाम:- यहां हिंदुओं की आबादी लगभग 23% मानी जाती है| कहा जाता है कि सूरीनाम में ज्यादातर भारतीयों को ब्रिटिश के द्वारा ले जाया गया था और यहां पर कुल हिंदुओं की आबादी लगभग 1 लाख 25 हजार के आसपास है|

टोबैगो:- जहां पर हिंदुओं की कुल आबादी लगभग 22% मानी जाती है|

Image result for qatar city people

कतर:- जहां पर हिंदुओं की कुल आबादी लगभग 13:30% पर्सेंट मानी जाती है| यहां पर ज्यादातर हिंदू भारत से काम करने आए हुए साधारण मजदूर हैं|

श्रीलंका:- जहां पर हिंदुओं की आबादी 12:30% है|

कुछ लोग इन अजीब तरीकों का इस्तेमाल कर के बन गये करोड़पति!

कुवैत:- जहां पर हिंदुओं की आबादी लगभग 9% के आसपास है| 

दोस्तों आप किस प्रकार के आर्टिकल पढ़ना चाहते है ? अगर आप हमे कमेंट में बतायेगे तो हम उनपर लिखने की पूरी कोशिस करेगे 

Follow us on Facebook

एंबुलेंस पर लिखा Ambulance वर्ड उल्टा क्यों लिखा होता है

आप लोगों ने नीली या आल बत्ती लगी हुई सायरन बजाती हुई एंबुलेंस तो देखी होगी| लेकिन क्या आपने सोचा है कि एंबुलेंस के ऊपर एंबुलेंस वर्ल्ड उल्टा क्यों लिखा होता है|

Why ambulance word written on ambulance is written inverted

एंबुलेंस के सारे Sine होते हैं उसको बाकी गाड़ियों से अलग बनाने के लिए जैसे कि उसके ऊपर नीली या लाल बत्ती होती है और वह सायरन बजाती जाती है ताकि लोग देखकर यह समझ जाए कि यह एंबुलेंस है और उसको रास्ता दे ताकि उसमें जो मरीज है उसको टाइम पर ट्रीटमेंट दिया जा सके|

भारत के टॉप न्यूज़ एंकर महीने में कितना कमाते हैं और ये पढ़े कितने है?

Why ambulance word written on ambulance is written inverted

इसी तरह उसके ऊपर जो एंबुलेंस वर्ल्ड लिखा हुआ होता है वह भी एक साइन होता है| लेकिन यह एंबुलेंस वर्ल्ड आगे चल रही गाड़ियों के लिए एक साइन होता है| क्योंकि जब आप अपनी गाड़ियों के मिरर से back में देखते हैं तो back की साइड में जो भी वर्ल्ड लिखे हुए होते हैं वह आपको उल्टे दिखाई देते हैं| तो एंबुलेंस पर आलरेडी एंबुलेंस उल्टा लिखा हुआ होता है| जब आप मिरर से back मैं देखते हैं और आपके पीछे एंबुलेंस होती है तो उस पर लिखा हुवा शब्द आपको सीधा दिखाई पड़ता है| जिसे आप समझ जाते हैं कि आपके पीछे एंबुलेंस आ रही है| तो एंबुलेंस पर कई सारे साइन होते हैं| इसी तरह एंबुलेंस वर्ल्ड का उल्टा लिखा होना भी एक साइन होता है| 

90 करोड़ का नंबर! दुनिया की 5 सबसे महंगी नंबर पलेट जिनकी कीमत जानकर हैरान हो जाएंगे!

तो अब आप समझ ही गए होंगे कि एंबुलेंस पर उल्टा वर्ल्ड क्यों लिखा हुआ होता है इसका क्या रीजन होता है|

Follow us on Facebook

भारत के टॉप न्यूज़ एंकर महीने में कितना कमाते हैं और ये पढ़े कितने है?

देश और दुनिया में क्या हो रहा है उसको जानने के लिए हम अक्सर न्यूज़ देखते हैं जिसके द्वारा हमें पता चलता है कि क्या चल रहा है| इन न्यूज़ एंकर को हम देखते हैं और सुनते हैं और हमारे मन में ख्याल आता है कि ऐसे न्यूज़ एंकर बनने के लिए कितना पढ़ना होता है और क्या सैलरी मिलती है| आज हम आपको उनके जवाब देने वाले हैं|


1.सुधीर चौधरी:- सुधीर चौधरी भारत के सबसे जाने-पहचाने न्यूज़ एंकर और यह एडिटर भी हैं| जी न्यूज़ में इनको काफी समय हो गया है| जी न्यूज के साथ काम करते इन्होंने पत्रकारिता में डिप्लोमा किया हुआ है जो कि इन्होंने न्यू दिल्ली से किया है| इनकी 1 महीने की सैलरी लगभग 25 लाख रुपए के आसपास बताई जाती है| इनका शो DNA Zee News पर काफी पॉपुलर है|

चाणक्य नीति के दूसरे अध्याय के बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे!

2.रंजीत शर्मा:- रजत शर्मा इंडिया टीवी के एडिटर और न्यूज़ एंकर दोनों हैं| इनका Show आप की अदालत काफी Popular show है| इनकी उम्र लगभग 60 साल की हैऔर इनका show आप की अदालत काफी ज्यादा लोकप्रियता बटोर चुका है यह पूरे भारत के साथ साथ दुनिया भर में देखा जाता है जिसमें बड़े नेता से लेकर बॉलीवुड अभिनेता सब आते हैं| इन्होंने M.COM किया हुआ है और यह साल के लगभग 1.50 करोड रुपए कमा लेते हैं|

90 करोड़ का नंबर! दुनिया की 5 सबसे महंगी नंबर पलेट जिनकी कीमत जानकर हैरान हो जाएंगे!

3. अंजना ओम कश्यप:- यह आज तक के स्टार रिपोर्टर होने के साथ-साथ स्टार एंकर भी हैं| जब यह सवाल पूछना शुरु करती हैं तो बड़े-बड़े नेता भी चुप हो जाते हैं| इन्होंने पत्रकारिता में डिप्लोमा किया हुआ है और 1 महीने की सैलरी लगभग 2 से 3 लाख रूपय के बीच में है|

Image result for rubika liyaquat news anchor image

4. रुबिका लियाकत:- Zee News की फेमस एंकर रुबिका लियाकत अपने आप में किसी से कम नहीं है| रूबीका एक एंकर होने के साथ-साथ रिपोर्टर भी शानदार है| इन्होंने पत्रकारिता में उदयपुर से मास्टर डिग्री हासिल की है| इनकी सैलरी की बात करें तो एक महीने में लगभग दो लाख रुपए कमाती है|

अंबानी परिवार की 10 खास बातें जो बहुत कम लोग जानते है

Image result for sweta singh news anchor image

5. श्वेता सिंह:- यह आज तक की काफी सीनियर एंकर व रिपोर्टर हैं| श्वेता ने पटना से पत्रकारिता में डिप्लोमा किया हुआ है| यह Aaj tak के साथ काफी समय से काम कर रही हैं| इनके पति भी एक न्यूज़ रिपोर्टर हैं और इनकी सैलरी भी लगभग तीन लाख रूपय है|

निजी सुख के लिए इस आदमी ने एक रात में खर्च कर दिए 65 करोड़!

आपका चहेता न्यूज़ एंकर कोन है हमे कमेंट में जरुर बताये …

Follow us on Facebook