इन 5 जानवरों में पाई जाती है सुपर पॉवर

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम अनिल पायल है, वैसे तो इंसान को कुदरत ने बाकी जानवरों से कुछ ज्यादा ही दिया है, लेकिन फिर भी महत्वाकांक्षी इंसान को इससे संतुष्टि नहीं होती वह ऐसी काबिलियत हासिल करने के पीछे लगा होता है जो किसी के पास ना हो| विज्ञान की ताकत से इंसान ने यह हासिल भी कर दिखाया पर आज भी इस धरती पर ऐसे जीव है जिनकी काबिलियत इंसान को चुनौती दे रही है, तो चलिए जानते हैं कुछ ऐसे जानवरों के बारे में जो बेहद अजीबोगरीब ताकतों के धनी है|

मोदी सरकार की इस स्कीम से मिलेगा हर बिजनेस को लोन

These 5 animals are found in super power

These 5 animals are found in super power

 CLIMBING ON 90 DEGREES WALL

हर कोई यह जरूर जानता है कि कोई पंछी अपने पंखों की बदौलत ग्रेविटी को काफी हद तक मात दे जाता है| पर कोई जानवर पंखों के सिवाय ऐसा कर सकता हो ये आप पहली बार जानोगे| लोगों ने अक्सर अल्पाइन आईपेक्स बकरी के बारे में सुना था यह बकरा पहाड़ो और खड़ी दीवारों पर चढ़ सकता है पर ऐसा उन्होंने कभी देखा नहीं था पर दो अल्पाइन आईपेक्स बकरों को बांध की खड़ी दीवारों पर चढ़ते कैमरा में कैद किया गया| तब जाकर लोगों को इस बात पर विश्वास हुआ आप देख सकते हो कि 80 से 90 डिग्री में बने इस बांध की दीवारों के छोटे-छोटे किनारों से यह बकरे बड़ी मजबूती से  पैर टिका के आगे बढ़ रहे हैं|

These 5 animals are found in super power

These 5 animals are found in super power

यह एक एसी जगह है जिसको दुनिया का सबसे बेहतरीन पर्वतारोही भी चढ़ने को सोच नहीं सकता| अल्पाइन आईपेक्स अपनी असाधारण चढ़ने की काबिलियत को खाने की तलाश करने के लिए या अपने शिकारियों से बचने के लिए इस्तेमाल करते हैं|

नर्सिंग में आप बना सकते हैं शानदार करियर, फुल गाइडेंस

Image result for Chameleon Bacillus running on water

 WALKING ON THE WATER

अगर आपको सुपर पावर के रूप में एक वरदान दे दी जाए तो आप क्या मांगोगे शायद आप यही कहोगे कि मुझे पानी में दौड़ने की शक्ति दे दो | सोचा जाए तो ऐसा कर पाने वाला एक जानवर पहले से ही मौजूद है और वह है गिरगिट बेसिलस | गिरगिट पानी में बेहद तेज गति से दौड़ लगाती है और यह गति करीब 5 फीट प्रति सेकंड की गति से भी तेज है इसलिए पानी की सतह टूटने से पहले बेसिलस गिरगिट आगे चली जाती है जिसकी वजह से यह पानी में डूबती नहीं| इस तरह की काबिलियत हासिल करना इंसान का सपना जरूर हो पर आज के समय में यह मुमकिन नहीं क्योंकि औसतन वजन के इंसान को पानी पर दौड़ लगाना हो तो उसे 30 मीटर प्रति सेकंड से भी तेज गति हासिल करनी होगी तभी हम पानी की सतह टूटने से पहले आगे बढ़ पाएंगे |

भारत में रेलवे टिकट कलेक्टर या TC बनना है बहुत आसान ! ये है पूरी प्रोसेस

These 5 animals are found in super power

These 5 animals are found in super power

Mimic octopus

आपको शायद सुनने में किसी काल्पनिक साइंस फिक्शन मूवी की कल्पना लगे पर यह सच है कि इस दुनिया में कुछ ऐसे जानवर भी होते हैं जो अपना शारीरिक आकार बदलने की काबिलियत रखते हैं| मिमिक ऑक्टोपस एक ऐसा ही प्राणी है जो दूसरे प्राणी के शरीर का आकार धारण करने में सक्षम है| अपने शिकारियों को उलझाने हेतु मिमिक ऑक्टोपस अपना आकार किसी दूसरे जानवर की तरह बदल लेता है| इसकी इस काबिलियत को जांचा गया तो पता चला कि शरीर का अंग बदलने से किसी निश्चित जानवर के शरीर का आकार घंटों धारण करने का कौशल भी इसके पास है| लेंड फिश, जेलीफिश, समुद्री सांप यह कुछ ऐसे जानवर है जिनका रूप मिमिक ऑक्टोपस आसानी से धारण कर लेता है|

Image result for सैलामेंडर

REGROWING BODY PARTS

इंसान की काबिलियत इतने तक ही सीमित है कि वह अपने कटे हुए नाखून या बाल फिर से उगा सकते हैं| पर इस अद्भुत दुनिया में कुछ जानवर अपने कटे हुए शारीरिक अव्यय उगाने की भी क्षमता रखते हैं| उसी में से एक जानवर है जिसका नाम है ‘सैलामेंडर‘ | 8 इंच का यह जानवर अपना कटा हुआ पूरा पैर महज 3 महीनों के अंदर अंदर फिर से उगा लेता है| आम जानवरों में जो कोशिकाएं जख्म भरने के काम आती है उन्हीं कोशिकाओं का इस्तेमाल सैलामेंडर अपने शरीर का कटा अव्यय फिर से उगाने के लिए करता है| सोचिए अगर हम इंसान ऐसा कर पाने में कामयाब हो गए तो इस दुनिया में कोई भी अपंग नहीं होगा| अगर गलती से कोई अवयव कट भी जाए तो फिर से अपने आप तैयार हो जाएगा आशा करते हैं कि भविष्य में यह कल्पना सच्चाई में तब्दील हो जाए |

भारत के 5 ऐसे आविष्कार जिन्होंने पूरी दुनिया ही बदल डाली!

These 5 animals are found in super power

These 5 animals are found in super power

FORTUNE TELLING

हर किसी को अपना भविष्य जानने की इच्छा होती है आपने भी कभी ना कभी अपना भविष्य जानने की कोशिश तो की ही होगी| अब ज्योतिषि द्वारा की हुई भविष्यवाणी कितनी सच साबित होती है और कितनी नहीं इसके बारे में तो हम नहीं जानते| लेकिन सोने जैसी पंखों की चिड़िया का जब अभ्यास किया गया तो पता चला कि कोई बड़ी घटना से पहले ही इन्हें इस घटना के बारे में पता चल जाता है| एक समय जब साउथ अफ्रीका से होकर अमेरिका के रास्ते उड़ने वाले Winged Birds याने की सोने जैसी पंखों की चिड़ियाओं के झुंड ने सफर में ही अपना रास्ता बदल दिया, तब इनके इस अजीबोगरीब बर्ताव की वजह शोधकर्ताओं को पता नहीं चली| इस घटना के कुछ ही दिनों बाद दक्षिण अमेरिका को बड़ा तूफान हिट कर गया जिसमें 35 लोग की मौत हो गई| इससे यह अंदाजा लगाया गया कि इन पक्षियों को इस आपदा का पहले से ही पता चल गया था|

जिगोलो गंदा है पर धंधा है… यहां महिलाएं लगाती हैं मर्दों की बोली!

दोस्तों आर्टिकल लिखने के लिए मुझे काफी मेहनत करनी पड़ती है और मेरा काफी समय लग जाता है इसलिए में आपसे एक लाइक और शेयर की उम्मीद करता हूँ… धन्यवाद

Connect With Us on Facebook | Follow us on Instagram | Join WhatsApp Group

मरने के बाद भी जिन्दा रहते है यह जीव! कुछ तो हमरे आस पास ही रहते है

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम अनिल पायल है, दोस्तों क्या यह संभव है कि किसी इंसान का शरीर इतना मजबूत हो सकता है कि वह करीब 4 हजार किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से अपनी और आती हुई गोली को हथेली से रोक दे… बिल्कुल नहीं| वास्तव में फिल्मों में दिखाई गई इन बकवासों को दिमाग से निकाल कर अगर हम विज्ञान के नजरिए से देखें तो हम इंसानों का शरीर बेहद नाजुक होता है| हम में से कुछ इतने बहादुर होते हैं कि गोली लगना तो दूर वे शायद गोली की आवाज सुनकर ही बेहोश हो जाए| लेकिन दोस्तों प्रकृति द्वारा बनाए गए करोड़ों-अरबो जीवो में से कुछ जीव इतने सख्त जान होते हैं जिसकी कल्पना ऐसे बकवास सीन सोचने वाले निर्देशक भी नहीं कर सकते ऐसे ही कुछ जीवो के बारे में आज में आपको बतावगा|

This creature is alive even after death

सांप

जब हमारा सामना सांपों से होता है तो हमारी 3 प्रतिक्रिया हो सकती हैं या तो हम चिल्लाने लगते हैं या वहां से भाग जाते हैं या फिर सांप को ही मार डालते हैं| लेकिन शायद आपको यह जानकर अचरज हो के वाईपर या अजगर जैसे सांपों का शरीर मरने के बाद भी अपना बचाव करता रहता है| असल में इन सांपों के माथे पर दो छिद्र पाए जाते हैं जो गर्मी के प्रति बेहद संवेदनशील होते हैं यह छिद्र विभिन्न प्रकार के जीवो के शरीर में से निकलने वाली गर्मी जो कि इंफ्रारेड के रूप में होती है उसे आसानी से महसूस कर लेते हैं| सांपों के शरीर की मांसपेशियों में मरने के घंटों बाद तक ऊर्जा बनी रहती है इसी वजह से मरने के कई घंटे बाद तक यह सांप अपना बचाव करते हैं|

सुप्रीम कोर्ट ने किया धारा 497 को रद्द, अब आप दुसरे की पत्नी के साथ बना सकते है सम्बन्ध

आप इन सांपों के जिस ओर जाकर खड़े होंगे सांप आपके शरीर की गर्मी को महसूस करेगा और बचने के लिए दूसरी तरफ मुंह कर लेगा वह भी मरा होने के बावजूद. वैसे मरने के बाद सांप द्वारा अपने इस बचाव का उसे कोई फायदा तो नहीं होने वाला लेकिन उसके इस व्यवहार से हमें सावधान होने की जरूरत अवश्य है क्योंकि मरने के बाद सांप सिर्फ अपना बचाव ही नहीं करता बल्कि आपको काट भी सकता है| अगर रैटलस्नेक और गाबोन वाइपर जैसे सांपों का सर धड़ से अलग भी कर दे तो भी इनका सर करीब डेढ़ से 2 घंटे तक बिना धड़ होने के बावजूद हमला करता रहता है| इसलिए इन सांपों को मारने के बाद इन्हें सावधानी से जमीन में गाड़ दिया जाता है क्योंकि इनके मरने के बाद भी इनका काटना किसी भी इंसान की जान ले सकता है. This creature is alive even after death

कॉकरोच

कॉकरोचों को हिंदी में तिलचट्टा कहा जाता है| माना जाता है कि पृथ्वी पर इनका जन्म कम से कम 30 करोड़ साल पहले हुआ था यानी कि डायनासोरों से भी पहले| यह इतनी सख्त जान है कि अगर भविष्य में कभी परमाणु युद्ध हुआ तो भी कॉकरोच आसानी से बच जाएंगे अगर आप कॉकरोच को फ्रिज में भी रख दे तो खुद की बर्फ जमने के बाद भी यह नहीं मरने वाला| सिर्फ इतना ही नहीं कॉकरोच के गर्दन काट देने के बावजूद भी इसे मरने के लिए कई सप्ताह का समय लग जाएगा. कई सप्ताह बाद भी उसकी मौत वजह यह होगी कि बगैर सिर के यह कुछ खा – पी नहीं सकता इसलिए भूख प्यास के चलते इसकी मौत हो जाती है| कॉकरोचों को बगैर सिर के सांस लेने में कोई परेशानी नहीं होती क्योंकि यह अपने शरीर पर बने छोटे-छोटे छेदों द्वारा सांस लेते हैं|

यह पांच विलुप्त हुए जीव एक बार फिर इस धरती पर लेंगे जन्म!

कॉकरोच 40 मिनट तक अपनी सांस रोक कर भी रख सकते हैं इसी वजह से वह लगभग 30 मिनट तक पानी में बड़े ही आसानी से रह सकते हैं| कॉकरोचों की 6 टांगे होती हैं हर एक टांग में 3 जोड़ या कहे की 3 घुटने होते हैं अगर किसी कारण से इसकी कोई टांग टूट जाती है तो कुछ ही दिनों में उसकी जगह नई टांग उग जाती है| कॉकरोचों की कुछ ऐसे मादा प्रजातियां भी पाई जाती हैं जो पूरे जीवन काल में सिर्फ एक बार किसी नर से संबंध बनाती है लेकिन सिर्फ एक बार के संबंध से ही यह पूरे जीवन गर्भवती रहती है और समय-समय पर अंडे देती रहती है|

This creature is alive even after death

This creature is alive even after death

ऑक्टोपस

ऑक्टोपस एक समुद्री जीव है. यह जीव बेहद लचीला होने के साथ-साथ बेहद ही समझदार होता है| इस जीव को कैद करके रखना बहुत ही मुश्किल काम होता है आप चाहे इसे कैद करने की कितनी भी कोशिश कर ले यह कभी अपने तेज दिमाग का प्रयोग करके तो कभी अपने लचीले शरीर की मदद से हर बार कैद से भाग निकलता है| ऑक्टोपस के पास 3 दिल होते हैं लेकिन इस जीव की सबसे अनोखी खासियत यह होती है कि इसकी 8 भुजाएं इसके एक दिमाग पर निर्भर नहीं होती, बल्कि हर भुजा का अपना ही एक अलग दिमाग होता है| इसी कारण से मरने के बाद भी इसकी भुजाओं में पहले जैसी गति बनी रहती है इसकी इसी खूबी की वजह से जापान में ओडरेडोन नाम से इसकी एक डिश बेहद लोकप्रिय है|

एक किलोमीटर रेलवे ट्रैक बनाने में लगते हैं इतने करोड़ रुपए!

इसको खाने वाले इस डिश के सवाद से ज्यादा इस में होने वाली हरकत का लुत्फ उठाते हैं क्योंकि जैसे ही मरे हुए ऑक्टोपस पर नमक या सोस डाला जाता है तो इसकी भुजाओं में हरकत आ जाती है और यह तेजी से हिलने लगती है| इसको खाते समय इसकी हलचल को गले में और खाने के बाद पेट में महसूस किया जा सकता है| सुनने में यह बेहद घिनौना लगता है और मेरे लिए तो ऐसा कर पाना नामुमकिन है… क्या आप ऐसा कर सकते है मुझे कमेंट में जरुर बताये|

Image result for सैलामेंडर

सैलामेंडर

सैलामेंडर उभयचरों की प्रजाति का नाम है| उभयचर उन जिवों को कहा जाता है जो मछलियों और सरीसृप वर्गों के बीच के श्रेणी में आते हैं सैलामेंडर की कई प्रजातियों के पास बेहद ही अनुखी खूबियां होती हैं| इन जीवो में अंगों को फिर से बनाने और घाव भरने की अदभुत क्षमता होती है और तो और नए अंग बनने के बाद इस जीव के शरीर पर किसी तरह के निशान भी बाकी नहीं रहते| इसकी रीड की हड्डी दिल या दिमाग में लगे गंभीर से गंभीर चोट भी चंद दिनों में ही ठीक हो जाती है इनकी इसी खूबी की वजह से दुनिया भर के वैज्ञानिक इन पर पिछले एक दशक से भी ज्यादा समय से शोध कर रहे हैं| शोधकर्ता यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि सैलामेंडर्स में किस तरह घाव भरने की प्रक्रिया होती है इसके लिए वे इस जीव के जींस के अनुकरण को समझने की कोशिश कर रहे हैं|

Image result for सैलामेंडर

वैज्ञानिकों ने इस जीव में मौजूद m-block नामक एंजाइम को भी खोज निकाला है जो इसके तेजी से घाव भरने और अंगों के पुन निर्माण की विधि को गति देता है| शोधकर्ताओं द्वारा इस एंजाइम के चूहों पर किए गए प्रयोग भी सफल रहे हैं इसलिए माना जाता है इस की मदद से भविष्य में इंसानों के कटे हुए अंग जैसे हाथ या पैर को दोबारा उगा कर चिकित्सा जगत में नई क्रांति लाई जा सकती है| अगर ऐसा हुआ तो यह एक बहुत ही बड़ी खोज होगी|

दुनिया के 5 सबसे शक्तिशाली बच्चे!

दोस्तों आप ऑक्टोपस और सैलामेंडर के बारे में क्या सोचते है? अपने महत्वपूर्ण विचार हमरे साथ कमेंट में शेयर करे ताकि सब लोग एक दुसरे के विचारो को जान सके|

दोस्तों आर्टिकल लिखने के लिए मुझे काफी मेहनत करनी पड़ती है और मेरा काफी समय लग जाता है इसलिए में आपसे एक लाइक और शेयर की उम्मीद करता हूं..

Connect with us on facebook

यह पांच विलुप्त हुए जीव एक बार फिर इस धरती पर लेंगे जन्म!

Endangered Animals

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम अनिल पायल है, दोस्तों माना जाता है कि हमारी पृथ्वी साढे़ चार अरब साल पुरानी है| पृथ्वी के इतने लंबे जीवन काल में समय-समय पर करोड़ों जीवों की प्रजातियों ने जन्म लिया है उनमें से कुछ प्रजातियां आज भी जीवित हैं जबकि अनेको ऐसी भी हैं जो वर्तमान समय में विलुप्त हो चुकी है. लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि लुप्त हुए उन जीवो को हम कभी नहीं देख पाएंगे| आज विज्ञान बहुत आगे बढ़ चुका है और बॉयोजेनेटिक से जुड़े कुछ वैज्ञानिकों को यकीन है कि वो आने वाले कुछ सालों में ही विलुप्त हो चुके जीवो को धरती पर दोबारा ला पाएंगे| बर्फ में दबे इन जीवो के संरक्षित उत्तकको से हासिल संरक्षिक पदार्थों को उनके परिवार के दूसरे जीवित सदस्यों के अंडों के साथ मिलाकर उनकी क्लाेनिंग की जा सकेगी|

endangered animals

endangered animals

अगर यह बात आपको गलत लगती है तो मैं आपको बता दूं कि वर्ष 2009 में रिसर्चरो ने एक लुप्त हो चुकी हिरण की प्रजाति की क्लोनिंग की थी और उसे पहाड़ी बकरी के अंडे में निषेचित करके सफलतापूर्वक प्रजनन भी करवाया था| लेकिन बकरी से पैदा हुआ वह बच्चा 10 मिनट से ज्यादा जीवित ना रह सका| लेकिन अब वैज्ञानिक ज्यादा बेहतर तकनीक के जरिए इन प्रयोगों को अंजाम दे रहे हैं जिसे अब कई जिवों की प्रजातियों को दोबारा पैदा किए जाने की उम्मीद जागी है लेकिन अगर आप यह सोच कर रोमांचित हो रहे हैं कि डायनासोर फिर से नजर आने लगेंगे तो आप गलत हैं| जिन  प्रजातियां को दोबारा वजूद में लाने पर विचार हो रहा है उनमें डायनासोर नहीं है इसकी वजह यह है कि उन्हें लुप्त हुए बेहद ज्यादा वक्त गुजर चुका है और उनके डीएनए भी विकृत हो चुके हैं. endangered animals

यह पांच जीव दोबारा लेंगे जन्म

endangered animals

 1. यूनिकॉर्न 

हॉलीवुड की फिल्मों में यूनिकॉर्न को एक चमचमाते सफेद घोड़े के रूप में दिखाया जाता है. कई बार तो इसे खूबसूरत पंखों के साथ आसमान में उड़ते हुए भी दिखाया जाता है लेकिन असल में यूनिकॉर्न का यह रूप सिर्फ काल्पनिक है| यह जीव रूस के बेहद ठंडे हिस्से साइबेरिया में पाया जाता था और घोड़े नहीं बल्कि गेंडे के परिवार से संबंध रखता था| इसके सर के ऊपर गेंडे के समान ही सिंग होता था लेकिन गेंडे की तुलना में इसका सिंग 3 गुना ज्यादा बड़ा होता था अपने इसी अकेले और बड़े सिंग के कारण ही इसे यूनिकॉर्न नाम मिला है. यह जीव सिर्फ 25000 साल पहले ही लुप्त हुआ था इसलिए आज भी बर्फ में दबी इसकी हड्डियां और सेल्स बेहद अच्छी हालात में मौजूद है जहां से इसका डीएनए लेकर उसे भारतीय मादा गैंडे में निशेचित करके दोबारा इस शानदार जीव को जन्म दिया जा सकता है|

एक किलोमीटर रेलवे ट्रैक बनाने में लगते हैं इतने करोड़ रुपए!

Image result for मैमथ

2. मैमथ

यह एक विशालकाय हाथी था जो मात्र 10000 साल पहले पृथ्वी पर हम इंसानों के बढ़ते साम्राज्य के कारण विलुप्त हो गया था| यद्यपि इसका वजन आज के अफ्रीकी हाथी के बराबर ही होता था लेकिन गर्दन और सर ऊंचा और दांत बेहद बड़े होते थे| इसके दांत करीब 15 फीट तक लंबे हो जाते थे जिससे यह बेहद खौफनाक लगता था| आज के हाथी की तुलना में मैमथ ज्यादा चुस्त और फुर्तीला भी होते थे. बर्फ में दबे इसके शव आज भी इतने सुरक्षित हैं कि उनसे दांत निकाल कर आज भी व्यापार के प्रयोग में लाए जाते हैं| इतनी अच्छी हालत में मौजूद इन शवों के कारण ही इस जीव को वर्तमान समय में मादा एशियाई हाथी के द्वारा दोबारा प्रजनन करके पैदा करने की सबसे अच्छी संभावना जताई जा रही है|

Image result for सेबर दंत शेर

3. सेबर दंत शेर

बिल्ली परिवार से संबंध रखने वाला यह जीव प्रकृति की बेहद शानदार रचना कहा जा सकता था| इसे विलुप्त हुए भी लगभग 10000 साल ही हुए हैं और इसके शव भी  मैमथ की भांति काफी अच्छी हालात में मिलते रहे हैं| जिनसे इसके सेल्श लेकर इस शेर के पुनरुत्थान की प्रबल संभावना है. यह शेर बेहद खूंखार शिकारी था, जिस समय हमारे पूर्वज जंगलों में रहा करते थे उस समय इसका खौफ उनके दिलों दिमाग में छाया रहता होगा| इसलिए अगर कभी हम अतीत में जा सके और हमारे पूर्वजों से इस जीव को जिंदा करने के बाबत साला मशवरा कर सके तो वे कतई इस जीव को जिंदा कराने के पक्ष में नहीं होंगे| इसके केनाइन दातों की लंबाई 1 फीट तक होती थी इसकी तुलना में वर्तमान शेर के कैनाइन दांत सिर्फ 4 इंच ही लंबे होते हैं यह 500 किलो वजनी हो जाता था और एक बड़े हाथी तक को मार गिराने का दम रखता था|

आम आदमी को प्रभावित करने वाली धारा 144 क्या होती है 

endangered animals

endangered animals

4. डोडो 

डोडो एक बेहद मासूम और बेचारा सा दिखने वाला परिंदा था| इसे लुप्त हुए सिर्फ 350 साल ही हुए हैं यह सिर्फ हिंद महासागर के मॉरिशस द्वीप पर ही पाया जाता था| इसका वजन 20 किलो तक होता था| लेकिन टांगे और पंख बेहद छोटे होते थे जिसके कारण यह उड़ नहीं पाता था और ना ही ठीक से चल पाता था| रंग-बिरंगे डोडो झुंड में लुढ़कते गिरते चलते थे तो स्थानीय लोगों का मनोरंजन होता था| इसलिए कहा जाता है कि इसे भारत में मुगल सम्राटों द्वारा भी मॉरिशस द्वीप से आयात करवा कर पाला जाता था| डोडो शब्द की उत्पत्ति पुर्तगाली शब्द दोदो से हुई है जिसका अर्थ मूर्ख या बावला होता है| सबसे पहले डच लोग जब मॉरिशस पहुंचे तो उन्होंने बड़े पैमाने पर खाने के लिए इस पक्षी का शिकार करना शुरू कर दिया| जिसके कारण जल्द ही यह जीव विलुप्त हो गया| अब डोडो सिर्फ मॉरिशस के राष्ट्रीय चिन्ह के रूप में ही दिखता है और वहां की सरकार इस परिंदे की पुनः प्राप्ति के लिए बेहद प्रयत्नशील भी है|

Image result for निएंडरथल

5. निएंडरथल 

आपको पता ही होगा कि चिंपांजी और गोरिल्ला का डीएनए इंसानों से बेहद मिलता-जुलता है लेकिन आज से 40000 साल पहले तक एक और वानर निएंडरथल भी इस धरती पर पाए जाते थे इनका डीएनए और शारीरिक बनावट चिंपांजी और गोरिल्ला की तुलना में बहुत ही अधिक इंसानों से मिलती थी इसी वजह से कुछ वैज्ञानिक तो इन्हें हमारा पूर्वज ही बतलाते हैं| माना जाता है कि निएंडरथल बेहद समझदार होते थे| यूरोप के कई गुफाओं में इनके इंसानों के साथ बेहतरीन संबंध होने के सबूत भी मिलते रहे हैं. हिम युग की शुरुआत में यह प्रजाति बदलते मौसम का सामना नहीं कर पाई और विलुप्त हो गई| लेकिन आज वैज्ञानिकों का मानना है कि बॉयोजेनेटिक्स और क्लाेनिंग तकनीकों से इस प्रजाति की भी स्थापना की जा सकती है| हालांकि लुप्त हुए जिवों कि पुनः स्थापना के प्रयोग नैतिक दृष्टि से कितने ठीक हैं इस बारे में विचार किए जाने की आवश्यकता है क्योंकि किसी भी जीव की उत्पत्ति या अंत के कुछ कारण होते हैं और उन्हें दोबारा जीवित करके प्रकृति के संतुलन के साथ छेड़छाड़ करना किस हद तक ठीक है यह एक बहुत बड़ा सवाल है|

दुनिया के 5 ऐसे जानवर जो बिजनेस करके करोड़पति बन गये

दोस्तों आप इनमे से किस जानवर को दोबारा देखना चाहते है हमे कमेंट में जरुर बताये…

Connect with us on facebook

दुनिया के 5 ऐसे जानवर जो बिजनेस करके करोड़पति बन गये

दोस्तों अमीर होना कौन नहीं चाहता अपनी ज्यादातर जरूरतें पूरा करने के लिए वह पैसा ही है जो हमारे काम आता है, पर अगर यही पैसा उनके पास चला जाए जिसे इसकी जरूरत नहीं है तो क्या होगा| मैं इंसानों की बात नहीं कर रहा मैं बात कर रहा हूं जानवरों की,आज हम उन पांच जानवरों के बारे में जानेंगे जो बिजनेस करके या मालिक द्वारा प्राप्त हुए पैसों से अमीर बन गए|

richest animal in the world

1. क्रंपि कैट 

अगर आप सोचते हैं की मॉडलिंग करना, फिल्मों में काम करना, किसी भी कंपनी का ब्रांड एंबेसडर बनना यह बस इंसानो का काम है तो आप गलत सोच रहे हो| इस दुनिया में एक जानवर ऐसा भी है जो यह सब अकेला कर लेता है वह जानवर है एक बिल्ली| इस बिल्ली का नाम है टार्डर सौस| टार्डर सौस ने अपना करियर शुरू करने के बस 2 साल के अंदर अंदर 600 करोड रुपए से भी ज्यादा रुपए कमा कर सब लोगों की दातों तले उंगलियां चबाने के लिए मजबूर कर दिया| यह पैसे उसने प्रोडक्ट का एडवर्टाइजमेंट कर के, फिल्म में काम करके कमाए थे | टार्डर की फिल्म जिसका नाम है क्रंपि कैट वर्स्ट क्रिसमस एवर ने टार्डर को शोहरत की बुलंदियों पर ला रख दिया| इस फिल्म में दिखाया गया है कि एक बोलने वाली बिल्ली किस तरह से कठिन परिस्थितियों का सामना करती है इस बिल्ली की मालकिन जो कि एक महिला है उसने अपनी नौकरी छोड़कर अब बस टार्डर का ख्याल रखती है अगर बिल्ली आपको करोड़ों कमा कर दे रही हो तो आप नौकरी थोड़ी करेंगे. Richest animal in the world

विश्व की 5 सबसे खूबसूरत जेल, जहां जाना हर किसी की ख्वाहिश रहती है

Image result for ट्रबल डॉग

 2. ट्रबल डॉग 

यह महिला एक रियल एस्टेट इन्वेस्टर और होटल की मालकिन थी उन्होंने 2007 में अपनी मृत्यु के बाद अपनी सारी संपत्ति करीब 102 करोड रुपए अपने कुत्ते ट्रबल के नाम कर डाली| अपने बेटे की विधवा और उसके दो पोतियों के नाम उसने कुछ भी नहीं किया| ट्रबल यह कुत्ता फ्लोरिडा के महल में रहा करता था| उसे ट्रबल यह नाम इसलिए दिया गया था क्योंकि यह कुत्ता लोगों के लिए सच में ट्रबल याने की समस्या बन चुका था क्योंकि उसे लोगों को काटने की आदत थी| हालांकी 2013 में ट्रबल की मौत हो गई और इस तरह पड़ोसियों को ट्रबल से छुटकारा मिल गया|

दवाइयों पर लिखे Rx, NRx, XRx और लाल पट्टी का क्या मतलब होता है! इन दवाइयों से होने वाले नुकसान

Richest animal in the world

3. गिगु मुर्गी 

आप लोगों में से कई लोग नॉनवेजिटेरियन होंगे जिन्हें चिकन यानी की मुर्गी खाने में जरूर पसंद होगी पर अगर मैं कहूं कि आप अमीर होने के बावजूद भी आप गिगु मुर्गी को खरीद नहीं सकते| तो आप क्या कहोगे… यह मुर्गी सोने के अंडे भी नहीं देती बल्कि गिगु यह दुनिया की सबसे अमीर मुर्गी है| इस मुर्गी ने किताब प्रकाशित की जिनका नाम था माइल्स ब्लैकवेल, उन्होंने इस गिगु मुर्गी को पाल पोस कर बड़ा किया| माइल्स अपने आंगन में कई मुर्गियां और भेड़ पाला करते थे उसी में से गिगु उनकी पसंदीदा मुर्गी थी| 2001 में माइल्स की मृत्यु के बाद आज के हिसाब से करीब 160 करोड रुपए गिगु के नाम हो गए और वह इस दुनिया की सबसे अमीर मुर्गी बन गई है. दुख की बात यह है कि उस मुर्गी को नहीं पता कि वह अमीर है|

Richest animal in the world

4. कालू चिंपांजी 

कालू  चिंपांजी आज की तारीख में इतना अमीर है कि जिसके सपने इस दुनिया का हर कोई इंसान देखता होगा| कालू के नाम 450 करोड रुपए से ज्यादा की संपत्ति का मालिकाना अधिकार है| पैटरीसीया नील नामक रईस महिला ने कालू को एक संकट से बचाया था| उसी वक्त से कालू चिंपांजी को पैटरीसीया से पैटरीसीया को कालू से लगाव हो गया था इसी लगाव के चलते उन्होंने अपनी सारी संपत्ति कालू चिंपांजी के नाम कर दी| अब कालू इस पैसे से केले खरीदता है या सैंपियन यह तो पता नहीं चल सका. Richest animal in the world

दुनिया का सबसे अमीर गांव, जहां हर एक आदमी कमाता है 8 लाख रूपए महिना!

Richest animal in the world

Richest animal in the world

 5. फ्लोसी डॉग 

अगर आप यह सोचते हैं कि पालतू जानवरों को पालने वाले मालिक उन्हें प्यार करते हैं इसीलिए अपने मरने के बाद अपनी जायदाद वो अपने पालतू जानवरों के नाम कर जाते हैं तो आप गलत सोचते हैं| फ्लोसी कुत्ते के बारे में जानने के बाद आप की यह राय बदल जाएगी| ड्रवेरीमोर हॉलीवुड एक्ट्रेस को शायद आप जानते ही होंगे इस एक्ट्रेस ने चार्लीज एंजेल्स और ऐसे ही कई फिल्मों में काम किया था| ड्रयू ने कुत्ता एनिमल शेल्टर से गोद लिया था| जब अपने बॉयफ्रेंड के साथ अपने घर में थी तब उस कुत्ते ने बार बार भौंक कर उन्हें आगाह किया था कि उनके घर में आग लग गई है| उन दोनों को इसका पता चलने के बाद उन्होंने इस आग से खुद को बचा लिया कुत्ते की वजह से अपनी जान बच गई इसीलिए ड्यू ने ऐहसान की बदले उस कुत्ते के लिए 20 करोड रुपए का महल छोड़ दिया है|

दुनिया की 5 बड़ी कंपनी एक मिनट में कमाती है इतने करोड़ रुपए!

आप आपमें से कुछ लोग सोच रहे होगे की काश मेरी किस्मत भी इस बिली , कुते , चिम्पांजी या मुर्गी जेसी होती… अपनी राय हमे कमेंट में जरुर बताये 

Connect with us on Facebook

दुनिया के 3 सबसे खतरनाक जानवर, जिन्हें वैज्ञानिकों ने बनाया है!

दुनिया के 3 सबसे खतरनाक जानवर, जिन्हें वैज्ञानिकों ने बनाया है!

नमस्कार दोस्तों, Education House में आपका स्वागत है..

नमस्कार दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपसे 3 ऐसे जानवरों के बारे में बात करेंगे जिन्हें प्रकृति ने नहीं बल्कि इंसानों ने ही बनाया है। आज तक जीव-जंतु अपनेआप विकसित होते आए हैं लेकिन आज वैज्ञानिकों ने ऐसी खोज की है जिससे इंसान जानवर को अपने अनुसार विकसित कर सकता है। आज के इस आर्टिकल में मैं आपसे इन्हीं 3 कृत्रिम जानवरों के बारे में बात करूँगा तो आईये जानते हैं पूरी जानकरी…………

Salary 2,000 से 200,000 तक MONTHLY | Top 4 WAYS TO MAKE MONEY ONLINE | Part Time Jobs | Full Time Jobs

3 most dangerous animals in the world

1.बेल्जियन ब्ल्यू-इस साधरण से दिखने वाले जानवर के बारे में आप सोच रहे होंगे कि इसे इंसानो के द्वारा बॉडी बिल्डिंग कॉम्पिटिशन के लिए बनाया गया होगा लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नही है। इस जानवर को इसलिए बनाया गया है ताकि इससे ज्यादा से ज्यादा मांस लोगों को खाने को मिल सके। कई स्थानों पर तो इन्हें आपस में लड़ाया भी जाता है और इन पर पैसा लगाया जाता है।

Social Site Job Details | Salary 2,000 से 200,000 तक MONTHLY | BEST WAY TO MAKE MONEY ONLINE | Part Time Jobs | Full Time Jobs

2.पिग्स-कृत्रिम पिग बनाने का कारण यह है कि इनके शरीर में मांस ज्यादा होता है और यह साधारण पिग्स की तुलना में ज्यादा बड़े हो जाते हैं। इन जानवरों में दूसरे जानवरों का हार्मोन डाला गया है ताकि यह बहुत ही ज्यादा ताकतवर हो जाएँ। इन पिग्स का इंटरनेशनल बाज़ार में क्रय-विक्रय भी किया जाता है।

Job Placement Job Details | Salary 300 से 200,000 तक MONTHLY | BEST WAY TO MAKE MONEY ONLINE | Part Time Jobs | Full Time Job

3 most dangerous animals in the world

3.चिकन-दोस्तों मैं आपको बता दूँ कि कुछ समय पहले एक वीडियो इंटरनेट पर बहुत वायरल हुआ था जिसमें मुर्गियाँ काफी ज्यादा बड़ी थी और मैं आपको यह भी बता दूँ कि यह वीडियो सच थी। इन्हें भी दूसरे जानवरों के हार्मोन्स से बनाया गया है ताकि यह बहुत ज्यादा ताकतवर हो जाएँ।

दोस्तों आपको क्या लगता है कि प्रकृति के साथ खिलवाड़ करना सही है? कमेंट बॉक्स में जरूर बताएँ।