3 most dangerous animals in the world

दुनिया के 3 सबसे खतरनाक जानवर, जिन्हें वैज्ञानिकों ने बनाया है!

Articles

दुनिया के 3 सबसे खतरनाक जानवर, जिन्हें वैज्ञानिकों ने बनाया है!

नमस्कार दोस्तों, Education House में आपका स्वागत है..

नमस्कार दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपसे 3 ऐसे जानवरों के बारे में बात करेंगे जिन्हें प्रकृति ने नहीं बल्कि इंसानों ने ही बनाया है। आज तक जीव-जंतु अपनेआप विकसित होते आए हैं लेकिन आज वैज्ञानिकों ने ऐसी खोज की है जिससे इंसान जानवर को अपने अनुसार विकसित कर सकता है। आज के इस आर्टिकल में मैं आपसे इन्हीं 3 कृत्रिम जानवरों के बारे में बात करूँगा तो आईये जानते हैं पूरी जानकरी…………

Salary 2,000 से 200,000 तक MONTHLY | Top 4 WAYS TO MAKE MONEY ONLINE | Part Time Jobs | Full Time Jobs

3 most dangerous animals in the world

1.बेल्जियन ब्ल्यू-इस साधरण से दिखने वाले जानवर के बारे में आप सोच रहे होंगे कि इसे इंसानो के द्वारा बॉडी बिल्डिंग कॉम्पिटिशन के लिए बनाया गया होगा लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नही है। इस जानवर को इसलिए बनाया गया है ताकि इससे ज्यादा से ज्यादा मांस लोगों को खाने को मिल सके। कई स्थानों पर तो इन्हें आपस में लड़ाया भी जाता है और इन पर पैसा लगाया जाता है।

Social Site Job Details | Salary 2,000 से 200,000 तक MONTHLY | BEST WAY TO MAKE MONEY ONLINE | Part Time Jobs | Full Time Jobs

2.पिग्स-कृत्रिम पिग बनाने का कारण यह है कि इनके शरीर में मांस ज्यादा होता है और यह साधारण पिग्स की तुलना में ज्यादा बड़े हो जाते हैं। इन जानवरों में दूसरे जानवरों का हार्मोन डाला गया है ताकि यह बहुत ही ज्यादा ताकतवर हो जाएँ। इन पिग्स का इंटरनेशनल बाज़ार में क्रय-विक्रय भी किया जाता है।

Job Placement Job Details | Salary 300 से 200,000 तक MONTHLY | BEST WAY TO MAKE MONEY ONLINE | Part Time Jobs | Full Time Job

3 most dangerous animals in the world

3.चिकन-दोस्तों मैं आपको बता दूँ कि कुछ समय पहले एक वीडियो इंटरनेट पर बहुत वायरल हुआ था जिसमें मुर्गियाँ काफी ज्यादा बड़ी थी और मैं आपको यह भी बता दूँ कि यह वीडियो सच थी। इन्हें भी दूसरे जानवरों के हार्मोन्स से बनाया गया है ताकि यह बहुत ज्यादा ताकतवर हो जाएँ।

दोस्तों आपको क्या लगता है कि प्रकृति के साथ खिलवाड़ करना सही है? कमेंट बॉक्स में जरूर बताएँ।


Notice: Undefined index: recomendations_protocol in /home/educationhouse/public_html/wp-content/plugins/free-comments-for-wordpress-vuukle/vuukleplatform.php on line 34