Downloading Whatsapp from Google Play Store is dangerous!

गूगल प्ले स्टोर से Whatsapp डाउनलोड करना है खतरनाक!

Articles

गूगल प्ले स्टोर से Whatsapp डाउनलोड करना है खतरनाक!

Downloading Whatsapp from Google Play Store is dangerous!

व्हाट्सऐप सबसे ज्यादा पॉपुलर मैसेजिंग ऐप है। इस ऐप को दुनिया भर में इस्तेमाल किया जाता है। गूगल प्ले स्टोर में व्हाट्सऐप के करीब 1 बिलियन डाउनलोड हैं, लेकिन जरा संभलकर क्योंकि गूगल प्ले स्टोर में एक और फेक व्हाट्सऐप है। इस फेक व्हाट्सऐप के झांसे में अब तक कोई यूज़र्स आ चुके हैं। दुनियाभर में इस्तेमाल किए जाने वाले पॉप्युलर मेसेजिंग ऐप वॉट्सऐप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। दरअसल, प्ले स्टोर पर एक फेक वॉट्सऐप देखा गया है जिसके झांसे में अब तक करीब 5 हजार से ज्यादा लोग आ चुके हैं।

Downloading Whatsapp from Google Play Store is dangerous!

ऐसा माना जा रहा है कि यह वाट्सएप मलिशस वर्जन है। गलती से भी अगर आपने इसे डाउनलोड कर लिया तो आपके लिए मुसीबत खड़ी हो सकती है। इस फेक ऐप को सबसे पहले WABetaInfo ने हाईलाइट किया। WhatsApp Business के बारे में पहले ही कई यूज़र्स शिकायत कर चुके हैं। WABetaInfo की ओर से भी चेतावनी दी गई थी, कि इस ऐप को डाउनलोड न करें, यह फेक है। व्हाट्सऐप बिज़नस अभी ऑफिशियली सभी के लिए उपलब्ध नहीं हैं। व्हॉट्सऐप का क्रेज किस कदर लोगो पर छाया हुआ इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है, कि जब भारत सहित कुछ देशों कुछ समय के लिए व्हॉट्सऐप बंद हुआ तो सोशल मीडिया में इसको लेकर अफरा तफरी मच गई.

गूगल प्ले स्टोर पर हुआ था वायरस अटैक

इससे पहले गूगल प्ले स्टोर से करोड़ों बार डाउनलोड की गई 500 से ज्यादा एंड्रॉयड एप्स मालवेयर से प्रभावित पाई गई थीं। इनमें से 90 फीसद एप्स प्ले स्टोर से फ्री में डाउनलोड की जा सकती थीं। ऐसे में एप डेवलपर्स विज्ञापनों के जरिए रेवन्यू बनाते थे। इसके लिए वो अपनी एप्स में Android SDK Ads library को इंटीग्रेट करते थे जो एप के फंक्शन्स को कोई नुकसान नहीं पहुंचाती थी। लेकिन मोबाइल सिक्योरिटी फर्म के रिसर्चर्स ने इन एप्स में एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट किट का पता लगाया थी जो एंड्रॉयड डिवाइस में स्पाईवेयर भेज रहा था।


Notice: Undefined index: recomendations_protocol in /home/educationhouse/public_html/wp-content/plugins/free-comments-for-wordpress-vuukle/vuukleplatform.php on line 34