दुनिया के 5 सबसे क्रूर तानाशाह शासक!

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम अनिल पायल है, धरती पर कुछ लोग शांति की कामना करते हैं, शांति लाना चाहते हैं परंतु दूसरी ओर कुछ लोगों को अपनी हुकूमत करना बहुत अच्छा लगता है चाहे उसके लिए उन्हें किसी की जान लेनी पड़े या कोई क्रूर सजा ही देनी पड़े| आपको आज में ऐसे ही दुनिया के क्रूर शासकों के बारे में बताने जा रहा हु जिनको शासक नहीं बल्कि इंसानियत और शांति का दुश्मन कहां जाना चाहिए|

most cruel ruler in the world

most cruel ruler in the world

ईदी अमीन दादा

दुनिया के सबसे क्रूर शासकों में से एक ईदी अमीन दादा था जिसने 1971 से लेकर 1979 तक युगांडा के सैन्य तानाशाह और राष्ट्रपति के पद पर रहकर अपनी क्रूर हुकूमत की| कहा जाता है कि ईदी अमीन ने अपने शासन काल में 5 लाख से ज्यादा लोगों को सबसे खतरनाक यातनाएं देकर मारा था| यह दुनिया का इतना क्रूर शासक था कि सजा के तौर पर यह लोगों के प्राइवेट पार्ट, हाथ पैर काट दिया करता था. मौत की ऐसी ऐसी सजाए सुनाता था जो किसी भी इंसान को झकझोर कर रख दे| कहा जाता है कि वह दोषियों का सर हथौड़े से फोड़ दिया करता था इसका शासन काल इतना खराब था कि उस वक्त महिलाओं का बलात्कार करना आम बात थी| ईदी अमीन दादा ने कई महिलाओं को बलात्कार करके तड़पा तड़पा कर मौत के घाट उतारा था| 16 अगस्त 2003 को ईदी अमीन दादा सऊदी अरब में मारा गया. Most cruel ruler in the world 

दुनिया के 5 ऐसे जानवर जो बिजनेस करके करोड़पति बन गये

एडोल्फ हिटलर

एडोल्फ हिटलर के बारे में आपने इतिहास में जरूर पढ़ा होगा| यह नाजी पार्टी का क्रूर शासक था जो लगभग 1 करोड़  70 लाख  लोगो की मौत का जिम्मेदार है| हिटलर ने 1933 से 1945 तक करीब 12 वर्षों तक जर्मनी पर क्रूरता का शासन किया. जब द्वितीय विश्व युद्ध हुआ तो हिटलर ने अपने विरोधियों को चुन चुन कर मारा जिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे| हिटलर एक ऐसा शासक था  जिसको बच्चों पर भी रहम नहीं आता था जिसने सबसे ज्यादा अत्याचार यहूदी धर्म के लोगों पर किया जबकि इसका पहला प्यार भी यहूदी लड़की थी| एक दिन ऐसा आया जब हिटलर के पास कुछ ना रहा और तब कायरों की तरह हिटलर ने अपने हाथों से ही अपनी जीवन लीला खत्म कर ली|

Most cruel ruler in the world 

Most cruel ruler in the world

3. सद्दाम हुसैन

21वीं सदी के सबसे कुख्यात इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन 20 लाख लोगों का हत्यारा है| जिसने अपने विरोधियों को भी नहीं छोड़ा, सद्दाम हुसैन कुर्दिश समुदाय के लोगों का सबसे बड़ा दुश्मन था| इसके लिए उसने उन पर जहरीली गैस का इस्तेमाल किया जिसमें बच्चे बूढ़े और महिलाओं को जान से हाथ धोना पड़ा| सद्दाम हुसैन लोगों को दर्दनाक मौत दे कर मारता था फिर उनकी आवाज रिकॉर्ड करता था फिर जब शाम को डिनर करता था तो उस चीख को सुनकर जोर-जोर से हंसता रहता था|

आम आदमी को प्रभावित करने वाली धारा 144 क्या होती है 

Image result for Joseph Stalin

जोसेफ स्टालिन

जोसेफ स्टालिन लेनिंग की मौत के बाद 1924 में स्टॉलिन सोवियत यूनियन का नया कम्युनिस्ट नेता बना| उसने अपने कार्यकाल में करीब 2 करोड़ 30 लाख लोगों को मौत के घाट उतार दिया| उसने अपने कार्यकाल में किसानों के लिए एक 5 वर्षीय आर्थिक योजना लागू की और पूरे सोवियत किसानों को फार्मर कोऑपरेटिव से जुड़ने के लिए मजबूर कर दिया और सारे किसानों को सरकार के अधीन कर दिया जिसका नतीजा यह हुआ कि पूरे सोवियत में अकाल की स्थिति पैदा हो गई| सिर्फ अकेले यूक्रेन में ही 30 लाख से ज्यादा लोगों की भुखमरी से मृत्यु हो गई| उनकी जमीन सरकार द्वारा हड़पी गई और जो जिंदा बचे थे उनको जिंदगी भर एक गुलाम की जिंदगी जीनी थी| जहां उनको मजदूरी करने के लिए भेजा जाता था वहां भी उसने ऐसे नियम बनाए थे कि हर मजदूर को टारगेट दिया जाता था जिसको पूरा करना होता था यदि वह पूरा नहीं करता तो उसे मौत की सजा सुना देता था| उसका एक उसूल था जो उसकी नीतियों के  खिलाफ बोलेगा उसको मार दिया जाएगा और वह यही करता था| 5 मार्च 1953 को सेरेब्रल हैम्रेज के कारण जोसेफ स्टालिन मारा गया. Most cruel ruler in the world 

Most cruel ruler in the world 

Most cruel ruler in the world

बेनिटो मुसोलिनी

दुनिया के सबसे क्रूर तानाशाह में इटली के नेता बेनिटो मुसोलिनी का नाम भी शुमार है. बेनिटो मुसोलिनी ने द्वितीय विश्व युद्ध की शुरुआत की थी| क्योंकि उसने 1935 में अभीसिनिया पर हमला किया मगर उसे बहुत बार हार का मुंह देखना पड़ा एक बार नहीं दो बार नहीं लगातार हार के कारण बेनिटो मुसोलिनी को उसके पद से हटा दिया गया और उसे हिरासत में ले लिया गया| लेकिन तब हिटलर ने उसको छुड़ा दिया था लेकिन इसकी आजादी काफी दिन तक नहीं चली और 1945 में मित्र देशों की सेना ने इटली पर हमला कर दिया और 28 अप्रैल 1945 को बेनिटो मुसोलिनी को मौत की सजा दे दी गई|

एक किलोमीटर रेलवे ट्रैक बनाने में लगते हैं इतने करोड़ रुपए!

दोस्तों क्या आज कोई इंसान तानाशाह बन सकता है ? आपको इनमे से कोनसा तानाशाह सबसे खरनाक लगा हमे कमेंट में जरुर बताये 

Connect with us on Facebook

दुनिया के 5 सबसे शक्तिशाली बच्चे!

21 वी सदी में बॉडीबिल्डिंग युवाओं के बीच एक जबरदस्त उभरता हुआ फैशन बनता जा रहा है| लेकिन दोस्तों क्या हो अगर 2 साल के छोटे बच्चों पर इन सब चीजों का जुनून सवार हो जाए तो बात करते हैं ऐसे ही दुनिया की कुछ शक्तिशाली और नन्हें बॉडी बिल्डर के बारे में|

strongest child in the world

strongest child in the world

1. एंड्री कोस्तास

पहले नंबर पर है एंड्री कोटास, यूक्रेन में पैदा हुए एंड्री अपने 5 साल की उम्र से ट्रेनिंग ले रहे हैं| उनके नाम पर 2 घंटे में 4000 से ज्यादा पुशअप्स करने का अविश्वसनीय रिकॉर्ड दर्ज है और उन्होंने अपना यह कारनामा महत्त्व 7 साल की उम्र में ही कर दिखाया था| फिलहाल एंड्री 13 साल के हैं और मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग ले रहे हैं|

आम आदमी को प्रभावित करने वाली धारा 144 क्या होती है 

Related image

2. यांग जिनलॉन्ग (Yang Jinlong)

दूसरे नंबर पर है यांग जिनलॉन्ग, देखने में यह चीनी लड़का आपको किसी आम मोटे चीनी बच्चों की तरह दिखता होगा लेकिन असल में यह काफी शक्तिशाली है जो सिर्फ 7 साल का है और 1.8 टन वजनी गाड़ी को रस्सी के सहारे काफी दूर तक खींच सकता है| इसके साथ-साथ यांग 110 KG की वजनी सीमेंट की गोनियों को अपने कंधों पर आसानी से रख कर काफी दूर तक चल सकता है| चायना में  यांग काफी फेमस है और इनके कई कारनामों के वीडियोस युटुब पर भी मौजूद है. strongest child in the world

3. रिचर्ड सैंडडार्क (Richard Sandrak)

तीसरे नंबर पर है रिचर्ड सैंडडार्क, लिटिल हर्कुलस के नाम से मशहूर यूक्रेन में पैदा हुए रिचर्ड  महज 2 साल की उम्र से अपने पिताजी के साथ ट्रेनिंग करते आ रहे हैं वह 2 साल की उम्र से 600 पुश अप्स और 300 स्कॉट्स मारते आए हैं| चौका देने वाली बात यह है कि रिचर्ड के शरीर में बॉडी फैट 1% के अंदर है रिचर्ड को उनके समय में लोग स्ट्रांगेस्ट किड्स के रूप में जानते थे| फिलहाल रिचर्ड्स बड़े हो गए हैं और फिल्मों में स्टंट मैन का काम करते हैं|

दुनिया के 5 ऐसे जानवर जो बिजनेस करके करोड़पति बन गये

strongest child in the world

strongest child in the world

4. सी.जे. सेन्टर (C.J. Senter)

सी.जे. सेन्टर दुनिया के एक उत्तेजक वेटलिफ्टर्स मैं से एक हैं उन्होंने यूएसए वेटलिफ्टिंग नेशनल चैंपियनशिप में 674 पॉइंट की अद्वितीय वेटलिफ्टिंग की थी| इसके साथ-साथ उन्होंने 175 केजी की क्लीन एंड जर्क लिफ्टिंग भी की है जो एक रिकॉर्ड है हालांकि कंपटीशन ग्लोबल ना होने की वजह से उन्हें कोई ऑफिशियल किताब नहीं मिल सका| सी.जे. सेन्टर महज 15 साल के यूएसए के जाने-माने वेटलिफ्टर्स किड्स में से एक है|

विश्व की 5 सबसे खूबसूरत जेल, जहां जाना हर किसी की ख्वाहिश रहती है

strongest child in the world

strongest child in the world

5. गुलियानो एस्ट्रो (Giuliano claudio stroe)

2004 में पैदा हुए गुलियानो एस्ट्रो हमारी सूची में सबसे अव्वल नंबर पर हैं| अपनी 2 साल की उम्र से ट्रेनिंग ले रहे गुलियानो एस्ट्रो के नाम कई बड़े खिताब दर्ज हैं इसके साथ-साथ गुलियानो का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी अपने कई कारनामों के लिए दर्ज है| जैसे कि सबसे ज्यादा पुश अप्स बिना जमीन को स्पर्श किए मारना, लंबे समय तक मानव झंडा बने रहना, अपने पैरों की वजन के साथ सबसे तेजी से 10 मिनट तक हाथ के बल चलना और भी बहुत से इसमें ज्यादातर रिकॉर्ड ग्यूलिआनो ने अपने 4 से 5 साल की उम्र में बनाए हैं| फिलहाल गुलियानो 13 साल के हैं और दुनिया के स्ट्रांगेस्ट किड्स के नाम से जाने जाते हैं| ग्यूलिआनो का एक छोटा भाई क्लाउडिस्ट्राइ है जो कई सालों से अपने भाई के नक्शे कदम पर चल रहा है |

दवाइयों पर लिखे Rx, NRx, XRx और लाल पट्टी का क्या मतलब होता है! इन दवाइयों से होने वाले नुकसान

दोस्तों आपमें क्या खास बात है हमे कमेंट में जरुर बताये… और आपको इनमे से कोनसा बचा सबसे ज्यादा ताकतवर लगा 

Connect with us on facebook

एक किलोमीटर रेलवे ट्रैक बनाने में लगते हैं इतने करोड़ रुपए!

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम अनिल पायल है, यह बात आपने कभी न कभी सोची है कि हमारे इंडियन रेलवेज में करीब 1 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन का निर्माण करने में कितना खर्च आता होगा| एकदम एग्जैक्ट प्राइस का हिसाब लगाना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि रेलवे लाइन पे कितना खर्च आने वाला है यह बात डिपेंड करती है बहुत सारे फैक्टर्स पे जैसे की उसका जोग्राफिकल लोकेशन क्या है रूट का इंपॉर्टेंट कितना है कौन-कौन सी टेक्नोलॉजी यूज हुई है|

How much does it cost to build a one kilometer railway track

How much does it cost to build a one kilometer railway track

1. पहले 1 किलोमीटर रेलवे ट्रैक बनाने में लगते थे 52 से 80 लाख रुपए 

अगर बात करें पहले की रेल ट्रेक्स की तो जाहिर तौर पर उनका कॉस्ट काफी कम होता था क्योंकि वहां पर सिर्फ और सिर्फ आईरन का इस्तेमाल होता था| रेल ट्रेक्स बनाने में और ऐसे में बड़ी आसानी से करीब 52 से 80 लाख में 1 किलोमीटर लंबा रेलवे लाइन बन जाता था और जाहिर तौर पर ऐसे रेलवे ट्रैक की गुणवत्ता काफी खराब होती थी मतलब की यह बड़ी आसानी से टूट जाते थे या फिर बेंड हो जाते थे. How much does it cost to build a one kilometer railway track

दवाइयों पर लिखे Rx, NRx, XRx और लाल पट्टी का क्या मतलब होता है! इन दवाइयों से होने वाले नुकसान

How much does it cost to build a one kilometer railway track

2. अभी 1 किलोमीटर रेलवे ट्रैक बनाने में लगते हैं 7 से 10 करोड़ रुपए 

अभी के रेलवे ट्रेक्स में आयरन तो यूज होता ही है साथ ही साथ बड़ी मात्रा में स्टील का यूज किया जाता है और साथ ही साथ कुछ और एलिमेंट जैसे मैग्नीज और कार्बन का भी यूज होता है| जिस कारण से आज के रेलवे ट्रेक्स काफी स्ट्रांग और ड्यूरेबल बन जाते हैं| अगर बात करें कॉस्ट की तो इस तरह के 1 किलोमीटर लंबी रेल ट्रैक बिछाने में करीब 7-10 करोड़ खर्च होते हैं| ट्रेक्स की गुणवत्ता उसके अंदर यूज हो रहे मैटेरियल्स के साथ-साथ इस बात पर डिपेंड करता है ट्रैक का वेट कितना है अगर हम बात करें अपने नार्मल रेल ट्रेक्स की जिसकी 1 किलोमीटर की कॉस्ट करीब 7-10 करोड़ है. यहां पे ट्रेक्स का वेट करीब 37-45 किलो पर मीटर होता है| यहां पर ट्रेक नहीं बल्कि एक सिंगल रेल का वेट 37-45 किलो पर मीटर होता है| अब जाहिर तौर पर अगर ट्रेक्स का वेट ज्यादा होगा तो कॉस्ट भी उसकी ज्यादा होगी| अगर बात करे डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर की तो वहां पर 1 किलोमीटर लंबा रेल लाइन बिछाने में 30 करोड़ रुपए खर्च होते हैं| यहां पर ट्रेक्स का वेट नार्मल ट्रेक्स के मुकाबले ज्यादा है जिस कारण से यहां के ट्रैक भारी से भारी कंटेनर को एक डीसेंट स्पीड तक झेल सकते हैं|

दुनिया का सबसे अमीर गांव, जहां हर एक आदमी कमाता है 8 लाख रूपए महिना!

How much does it cost to build a one kilometer railway track

How much does it cost to build a one kilometer railway track

3. बुलेट ट्रेन के 1 किलोमीटर ट्रैक बनाने में लगते हैं 90 से 100 करोड़ रुपए|

अगर बात करें बुलेट ट्रेन की ट्रेक्स की तो उनकी कॉस्ट हमारी नार्मल ट्रेक्स से 7 से 8 गुना ज्यादा होती है और उनकी गुणवत्ता और वेट भी नार्मल ट्रेक्स से ज्यादा होती है| जिस कारण से बुलेट ट्रेन के 1 किलोमीटर लंबी ट्रक को बिछाने में 90-100 करोड़ खर्च हो जाते हैं| बुलेट ट्रेन हमारे नार्मल इंडियन  ट्रेक्स पर भी  चल सकते हैं यहां पर उनकी स्पीड बहुत कम हो जाएगी मतलब  160-170 इतनी और बहुत हुआ तो 180 और वह भी बस कुछ चुनिंदा रूट पर| हमारे रेल ट्रेक्स की गुणवत्ता इतनी नहीं है कि वह 300 से ज्यादा स्पीड झेल सके और एक बात और ज्योग्राफिकल लोकेशन भी एक इंपॉर्टेंट रोल प्ले करता है इस बात में की 1 किलोमीटर लंबी रेल ट्रेक की कॉस्ट कितनी होगी| अब जाहिर तौर पर किसी रेल ट्रेक का निर्माण उत्तर प्रदेश के किसी प्लेन सर्फेस पर हो रहे है तो वहां पर 1 किलोमीटर लंबी रेल ट्रेक की कॉस्ट कम होगी और वहीं महाराष्ट्र के वेस्टर्न घाट में जहां की जमीन ऊंची नीची है अगर वहां पर रेलवे ट्रैक का निर्माण हो रहा है तो वहां 1 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन की कॉस्ट दोगुनी बढ़ जाएगी| इस तरह से आपको एक अनुमान लग गया होगा 1 किलोमीटर लंबी रेलवे ट्रैक की कॉस्ट कितनी होती है. How much does it cost to build a one kilometer railway track

एक ऐसा देश जहां लोगों का मरना सख्त मना है!

दोस्तों अगर आपको रेलवे ट्रैक बनानें का टेंडर दे दिया जाये तो क्या आप रेलवे ट्रैक बना सकते है? 

Connect with us on facebook

 महाभारत के 10 चौंकाने वाले रहस्य! जो आप नहीं जानते होंगे

 आज हम जानेंगे महाभारत के 10 चौंकाने वाले रहस्य जो बहुत कम लोगों को पता है|

10 shocking facts of the Mahabharata

1. अभिमन्यु कालयवन राक्षस की आत्मकथा 

अभिमन्यु जो अर्जुन का पुत्र था वह एक कालयवन नामक राक्षस की आत्मा थी| किसी ने कालयवन का वध कर उसकी आत्मा को अपने अंग वस्त्र में बांध लिया था| वह उस वस्त्र को अपने साथ द्वारिका ले गई और एक अलमारी में रख दिया| सुभद्रा जो अर्जुन की पत्नी थी उसने गलती से जब अलमारी खोली तो एक ज्योति उसके गर्भ में आ गई और वह बेहोश हो गई| इसी वजह से अभिमन्यु को चक्रव्यूह भेदने का आधा ही तरीका बताया गया था|

इस इंसान को कहा जाता है दुनिया का सबसे मजबूत इंसान!

10 shocking facts of the Mahabharata

10 shocking facts of the Mahabharata

2. द्रौपदी बनी पांच पतियों की पत्नी 

द्रौपदी अपने पिछले जन्म में इंद्रसेना नाम की दूसरी पत्नी थी| उसके पति संतमत दुल्ला का देहांत  जल्द ही हो गया था अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए उसने भगवान शिव से प्रार्थना की जब शिव उसके सामने प्रकट हुए तो वह घबरा गई और उसने 5 बार अपने लिए वर मांगा भगवान शिव ने अगले जन्म में उसे पांच पति दिए. 10 shocking facts of the Mahabharata

10 shocking facts of the Mahabharata

3. धृतराष्ट्र क्यों जन्मे थे अंधे 

धृतराष्ट् अपने पिछले जन्म में एक बहुत दुष्ट राजा था| एक दिन उसने देखा नदी में एक हंस अपने बच्चों के साथ आराम से विचरण कर रहा है तो उसने अपने सैनिकों को आदेश दिया उस हंस की आंखें फोड़ दी जाए और उसके बच्चों को मार दिया जाए| इसी वजह से अगले जन्म में वह अंधा पैदा हुआ और उसके पुत्र भी उसी तरह मृत्यु को प्राप्त हुए जैसे हंस के हुए थे|

भूखे पेट रेलवे स्टेशन पर सोने वाला लड़का बना 1600 करोड़ का मालिक

10 shocking facts of the Mahabharata

10 shocking facts of the Mahabharata

4. पांडवों ने अपने पिता का मांस खाया 

पांडू ज्ञानी थे उनकी अंतिम इच्छा थी उनके पांचों बेटे उनकी मृत शरीर को खाए ताकि उन्होंने जो ज्ञान अर्जित किया था वह उनके पुत्रों में चला जाए| सिर्फ सहदेव ने पिता की इच्छा का पालन करते हुए उनके मस्तिष्क के तीन हिस्से खाए पहले टुकड़े को खाते ही सहदेव को इतिहास का ज्ञान हुआ, दूसरे टुकड़े को खाते ही वर्तमान का और तीसरे टुकड़े को खाते ही भविष्य का| हालांकि ऐसी मान्यता भी है कि पांचों पांडवों ने ही मृत शरीर को खाया था पर सबसे ज्यादा हिस्सा सहदेव ने खाया था. 10 shocking facts of the Mahabharata

5. श्री कृष्ण लिया बर्बरीक का शीश दान में 

बर्बरीक भीम का पोता और घटोत्कच का पुत्र था, बर्बरीक को कोई नहीं हरा सकता था क्योंकि उसके पास कामाख्या देवी से प्राप्त हुए 3 तीर थे जिनसे वह कोई भी युद्ध जीत सकता था पर उसने शपथ ली थी कि वह सिर्फ कमजोर पक्ष के लिए ही लड़ेगा| अब क्योंकि बर्बरीक जब वहां पहुंचा तब कौरव कमजोर थे इसलिए उसका उनकी तरफ से लड़ना तय था. जब यह बात श्री कृष्ण को पता चली तो उन्होंने उसका सीश ही दान में मांग लिया तथा उसे वरदान दिया कि तू कलयुग मे श्याम नाम से जाना जाएगा| इसी बर्बरीक का मंदिर राजस्थान के सीकर जिले के खाटूश्यामजी में है जहां उनकी बाबा श्याम के नाम से पूजा होती है|

10 shocking facts of the Mahabharata

6. महाभारत में हर योद्धा के पास था शंख

महाभारत में हर योद्धा के पास अपना अलग अलग शंख था| सभी योद्धाओं के शंख बहुत ही शक्तिशाली होते थे भगवद गीता के 1 श्लोक में सभी शंखो के नाम है| अर्जुन के शंख का नाम देवदत्त था भीम के शंख का नाम पौंडरा था उसकी आवाज से कान से सुनना बंद हो जाता था भगवान श्री कृष्ण के शंख का नाम पांचजन्य और युधिष्ठिर के शंख का नाम अनंत विजया, सहदेव के शंख का नाम पुष्पकों और नकुल के शंख का नाम सुघोष मनी था |

दुनिया के सात अजूबों के बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे

Image result for अर्जुन

7. अर्जुन फिर गए थे 12 वर्ष के वनवास पर 

एक बार कुछ डाकुओं का पीछा करते हुए अर्जुन गलती से युधिष्ठिर और द्रोपदी के कमरे में दाखिल हो गया| अपनी गलती की सजा के लिए 12 साल के वनवास के लिए निकल गया उस दौरान अर्जुन ने 3 विवाह कीए चित्रांगदा, उलोपी और सुभद्र| इसी नागकन्या उलूपी से उसे एक पुत्र हुआ जिसका नाम इरावन था| महाभारत के युद्ध में जब एक बार एक राजकुमार की स्वैच्छिक नरबलि की जरूरत पड़ी तो इरावन ने ही अपनी बलि दी थी. 10 shocking facts of the Mahabharata

10 shocking facts of the Mahabharata

10 shocking facts of the Mahabharata

8. कुरुक्षेत्र में मिट्टी का रंग लाल है 

आज भी कुरुक्षेत्र में जो मिट्टी है वह अजीब है कुरुक्षेत्र में एक जगह है जहां माना जाता है कि महाभारत का युद्ध हुआ था| उस जगह कुछ 30 किलोमीटर के दायरे में जो मिट्टी है उसकी संरचना बहुत ही अलग है| वैज्ञानिक समझ नहीं पा रहे हैं कि यह कैसे संभव है क्योंकि इस तरह की मिट्टी सिर्फ तब हो सकती है जब उस जगह पर बहुत ज्यादा तेज गर्मी हो| बहुत से लोगों का मानना है कि लड़ाई की वजह से मिट्टी की प्रवृत्ति बदली है|

इस देश में रद्दी के भाव बिक रहे हैं रुपए!

10 shocking facts of the Mahabharata

9. एकलव्य ही था द्रोणाचार्य की मृत्यु का कारण 

एकलव्य देव शर्मा का पुत्र था. वह जंगल में खो गया था और उसको एक निश्चित हिरण धनु ने बचाया था| एकलव्य रुक्मणी स्वयंवर के समय अपने पिता की जान बचाते हुए मारा गया| उसके इस बलिदान से प्रसन्न होकर भगवान श्री कृष्ण ने उसे वरदान दिया था कि वह अगले जन्म में द्रोणाचार्य से बदला ले पाएगा| अपने अगले जन्म में एकलव्य दृष्टिघूमन बनके पैदा हुआ और द्रोणाचार्य की मृत्यु का कारण बना|

Image result for शकुनि

10. शकुनि ही था कौरवों के नाश का कारण 

एक साधु के कहे अनुसार गांधारी का विवाह सबसे पहले एक बकरे के साथ किया गया था बाद में उस बकरे की बलि दे दी गई थी| यह बात गांधारी के विवाह के समय छुपाई गई थी| जब धृतराष्ट्र को इस बात का पता चला तो उसने गांधार नरेश सुवाला और उसके 100 पुत्रों को कारावास में डाल दिया और काफी यातनाएं भी दी| एक एक करके सुबाला के सभी पुत्र मरने लगे उन्हें खाने के लिए सिर्फ मुट्ठी भर चावल दी जाते थे. सुबाला ने अपने सबसे छोटे बेटे शकुनी को प्रतिशोध के लिए तैयार किया| सब लोग अपने हिस्से के चावल शकुनि को दे देते थे ताकि वह जीवित रह कर कौरवों का नाश कर सके| मृत्यु से पहले सुबाला ने  धृतराष्ट्र से शकुनि को छोड़ने की विनती की जो धृतराष्ट्र ने मान ली| सुबाला ने शकुनि को अपनी रीड की हड्डी के पासे बनाने के लिए कहा वही पासे कौरव वंश के नाश का करण बना| शकुनि ने हस्तिनापुर में सबका विश्वास जीता और 100 कौरवों का अभिभावक भी बना उसने ना केवल दुर्योधन को युधिष्ठिर के खिलाफ भड़काया बल्कि महाभारत के युद्ध का आधार भी बना|

भारत में मौजूद है एक ऐसा बाजार जहां लड़कियां लगाती हैं लड़को की बोली!

दोस्तों क्या सच में महाभारत का युद्ध हुवा था ? आप अपनी राय कमेंट में बता सकते है 

Connect with us on facebook

आम आदमी को प्रभावित करने वाली धारा 144 क्या होती है 

अक्सर हम सभी सुनते हैं, देखते हैं या पढ़ते हैं कि पुलिस ने शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 लगा दी है कहीं भी किसी भी शहर में हालात बिगड़ने की संभावना या किसी घटना के बाद धारा 144 लगा दी जाती हैं| आज  मैं आपको बताने वाला हूं कि आखिर धारा 144 क्या है और इसका वायलेशन करने पर क्या क्या सजा हो सकती है और धारा 144 कहां लगाई जाती है|

What is Section 144 affecting the common man

What is Section 144 affecting the common man

1. क्या है धारा 144 

सीआरपीसी के तहत आने वाली धारा 144 शांति व्यवस्था कायम करने के लिए लगाई जाती है| इस धारा को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट यानी के जिला अधिकारी एक नोटिफिकेशन जारी करता है और जिस जगह यह धारा लगाई जाती है वहां 5 या उससे ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते| इस धारा को लागू किए जाने के बाद उस स्थान पर हथियारों के लाने और ले जाने पर रोक लगा दी जाती है|

विश्व की 5 सबसे खूबसूरत जेल, जहां जाना हर किसी की ख्वाहिश रहती है

2. क्या है सजा का प्रावधान 

धारा 144 का वायलेशन करने वाले या इस धार का पालन ना करने वाले व्यक्ति को पुलिस गिरफ्तार कर सकती है उस व्यक्ति की गिरफ्तारी धारा 107 या फिर धारा 151 के तहत की जा सकती है| इस धारा का वायलेशन करने वाले या पालन नहीं करने वाले आरोपी को 1 साल कैद की सजा भी हो सकती है वैसे यह एक जमानती अपराध है इससे इसलिए इसमें जमानत हो जाती है. What is Section 144 affecting the common man

What is Section 144 affecting the common man

3. क्या है दंड प्रक्रिया संहिता 

दंड प्रक्रिया संहिता 1973 कोड आफ क्रिमिनल प्रोसीजर 1973 भारत में अपराधिक कानून के क्रियानयवन के लिए मुख्य कानून है जिसे 1973 में पारित किया गया था| भारत में यह 1 अप्रैल 1974 को लागू किया गया था| दंड प्रक्रिया संहिता का संक्षेप नाम सीआरपीसी है जब कोई अपराध किया जाता है तो सदैव दो प्रक्रिया, दो प्रोसेस होते हैं जिन्हें पुलिस अपराध की जांच करने में बनाती है| एक प्रोसेस पीड़ित के संबंध में होता है और दूसरा आरोपी के संबंध में होता है तो सीआरपीसी में इन दोनों प्रोसेस का ब्यौरा दिया गया है|

दवाइयों पर लिखे Rx, NRx, XRx और लाल पट्टी का क्या मतलब होता है! इन दवाइयों से होने वाले नुकसान

4. खराब व्यवहार की इजाजत नहीं देता है कानून 

कुछ मानव व्यवहार ऐसे होते हैं जिनकी कानून इजाजत नहीं देता| ऐसे व्यवहार करने पर किसी व्यक्ति को उसके नतीजे भुगतने पड़ सकते हैं. खराब व्यवहार को अपराध या गुनाह कहते हैं और उसके नतीजे को दंड यानी सजा कहा जा सकता है|

5. धारा 144 तोड़ने पर 1 साल की कैद 

सीआरपीसी की धारा 144 शांति व्यवस्था कायम करने के लिए लगाई जाती है. इस धारा को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी की जाती है| जिस भी स्थान के लिए धारा 144 लगाई जाती है उस स्थान पर 5 या इससे ज्यादा लोग एक साथ इकट्ठे नहीं हो सकते| इस धारा से उस स्थान पर हथियारों का लाने और ले जाने पर भी रोक लगा दी जाती है| जो भी व्यक्ति इस धारा का पालन नहीं करता है या इस धारा का वायलेशन करता है तो फिर पुलिस उस व्यक्ति को धारा 107 या फिर धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर सकती है| इस प्रकार के मामलों में 1 साल की कैद भी हो सकती है वैसे  यह एक जमानती अपराध है इसलिए इस में जमानत आसानी से मिल जाती है. What is Section 144 affecting the common man 

दुनिया का सबसे अमीर गांव, जहां हर एक आदमी कमाता है 8 लाख रूपए महिना!

Related image

सुप्रीम कोर्ट के वकील डीबी गोस्वामी के मुताबिक यह एक निषेधात्मक आदेश है धारा 144 किसी विशेष जिले थाने यह तहसील में लगाई जा सकती है| इस धारा का इस्तेमाल शांति कायम रखने के लिए किया जाता है जब भी प्रशासनिक अधिकारी को अंदेशा हो के इलाके में शांति व्यवस्था प्रभावित हो सकती है तो यह धारा लगाई जा सकती है| इसका उल्लंघन करने वालों को पुलिस धारा 107 ,151 के तहत गिरफ्तार करती है गिरफ्तारी के बाद उसे इलाके के एचडीएम या एसपी के सामने पेश किया जाता है क्योंकि एक अपराध जमानती है इसलिए बैल बॉन्ड भरने के बाद आरोपी को रिहा करने का इसमें प्रावधान किया गया है| निषेधाज्ञा के उल्लंघन के मामले में पुलिस संदिग्ध को उठाकर किसी दूसरे इलाके में भी पहुंचा सकती है और जिस इलाके में निषेधाज्ञा लगी हो वहां आने से रोक सकती है|

What is Section 144 affecting the common man

6. लग सकती हैं और भी धाराएं 

निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वाले शख्स ने मजिस्ट्रेट के सामने पेशी के दौरान अगर बेल बांड नहीं भरा तो उसे जेल भेज दिया जाता है| इस मामले में ज्यादा से ज्यादा 1 साल की कैद हो सकती है| निषेधाज्ञा के उल्लंघन के दौरान पुलिस कई बार आईपीसी की धारा 188 यानी सरकारी आदेश को ना मानने के तहत केस दर्ज कर सकती है ऐसे मामले में ज्यादा से ज्यादा 1 महीने की या ₹200 जुर्माने का प्रावधान है| गोस्वामी के मुताबिक अगर निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वाले ने दंगा फसाद किया हो या सरकारी काम में बाधा डाली हो या फिर मारपीट की हो तो मामले में अलग से आईपीसी की धाराएं लगाए जाने का प्रावधान है|

दुनिया की 5 बड़ी कंपनी एक मिनट में कमाती है इतने करोड़ रुपए!

दोस्तों क्या आपने कभी धारा 144 का सामना किया है हमे कमेंट में जरुर बताये 

Connect with us on facebook