#EducationHouse Motivational Article

आपको इतिहास रटना नहीं है बल्कि रचना है – बिजनेस मोटिवेशन

Articles

आपको इतिहास रटना नहीं है बल्कि रचना है – बिजनेस मोटिवेशन

इस दुनिया में दो तरह के लोग हैं, एक वो जो पूरी जिंदगी इतिहास रटते हैं और दूसरे वो जो पूरी जिंदगी इतिहास रचने में बिताते हैं | ऐसी क्या चीज होती है जो लोगों को इतिहास बनाने पर मजबूर कर देती है? कौन सी ऐसी शक्ति होती है जो उनको दूसरों से अलग खड़ा कर देती है? | केवल जिद्दी इंसान ही इतिहास रच सकता है. इंसान को अपनी जिद्द को बनाए रखना चाहिए क्योंकि इतिहास रचयिताओं को कभी न कभी गुस्सा आया था जो उनकी जिद में बदल गया, उनका संकल्प बन गया | अगर हम यह सोच अपना लें कि मुझे कुछ खास चाहिए ही चाहिए तो उस चीज को पाने के लिए आप आधी जंग तो पहले ही जीत जाते हैं | उदाहरण के तौर पर सचिन तेंदुलकर का कैरियर उनकी कोहनी की चोट के बाद खात्मे की कगार पर था पर उन्होंने जिद पकड़ ली कि उनको ऐसे रिटायर नहीं होना है. उस दिन का परिणाम सामने आया है आज उनके नाम 100 अंतर्राष्ट्रीय शतकों का रिकॉर्ड है | आप जिद्द से सपने पूरे कर सकते हैं.

#EducationHouse Question Answer (1)

#EducationHouse Motivational Article

आजादी ही मोटिवेशन है

इंटरप्रेन्योर्स को क्या चीज मोटिवेट करती है. कई लोग सोचेंगे कि पैसा मोटिवेट करता है पर यदि आप गौर से देखें तो पाएंगे कि पैसा तो सिर्फ मेहनत का आउटकम होता है. अगर लगन से मेहनत करें तो पैसा तो अपने आप ही आएगा | आजादी से काम करना, अपने विचारों पर काम करना, अपने तरीके से इन चीजों को करना, यही सपना होता है. एक इंटरप्रेन्योर्स को अगर इतिहास रचना है तो जिद्दी होना ही पड़ेगा. EducationHouse Motivational Article

ऑनलाइन ज्वेलरी बिजनेस में मिलेगी सफलता

क्रिएटिव सोच से आगे जाएं

सफलता के रास्ते पर काफी सारी रुकावटें आएंगे और उनको सिर्फ क्रिएटिव सोच के जरिए ही सुलझाया जा सके ऐसा बहुत ही कम देखने को मिलेगा | आपने कई बार देखा होगा कि जीवन में कुछ बड़ा करने के लिए कुछ लोग कोई नया तरीका नहीं चुनते बल्कि अपनी प्रतिभा का उपयोग करते हुए अथक मेहनत करके कामयाबी हासिल करते हैं. आप भी ऐसा कर सकते हैं. #EducationHouse Motivational Article

एक वक्त था जब खाने के भी पैसे नही थे , एक चूहे ने इस सख्स को बना दिया अरबपति

रच सकते हैं इतिहास

इंसान को अपनी जिद को पहचानना पड़ेगा क्योंकि इतिहास रचने वाले प्रतिशत के हिसाब से नहीं मिलेंगे उनकी तो गिनती की जा सकती है | कुछ लोग बिल गेट्स के लिए कहते हैं कि वह तो ड्राप आउट थे, पर उनके जानने वालों से पूछे तो पता चलता है कि उनसे ज्यादा पड़ने वाला आदमी कोई हो ही नहीं सकता | आज भी वह रोज 500 पेज पढ़ते हैं. सत्य नडेला की बात करें तो वह तो लैब में ही सो जाते थे जिससे कि वह समय बचा कर ज्यादा से ज्यादा सीख सकें | हर इंसान को जीवन में क्लैरिटी और ऊर्जा से भरपूर रहना पड़ेगा. ये मानक सत्य नाडेला के हैं | जब वह किसी से इंटरव्यू पर मिलते हैं तो इन बातों पर गौर जरूर करते हैं. अपका लक्ष्य साफ है तो उसकी तरफ पूरी ताकत से काम करने से ही आप इतिहास रचने के करीब पहुंच सकते हैं |

#EducationHouse Motivational Article

सफलता ही सर्वश्रेष्ठ प्रतिशोध है

एक बार रतन टाटा अपनी पैसेंजर व्हीकल डिवीजन जो की नुकसान में चल रही थी उसे बेचने के लिए फोर्ड कंपनी के संचालक बिल फोर्ड के पास गए, तो बिल ने उनका काफी अपमान किया | बिल ने कहा कि मैंने यह खरीदी तो तुम पर एहसान करुगा और अगर तुम्हे धंधा करना आता ही नहीं है तो बिजनेस शुरू ही क्यों किया | यह बात रतन टाटा को चुभ गई और उन्होंने जिद पकड़ ली कि मैं पैसेंजर व्हीकल को फायदे में लेकर ही आऊंगा और वे मेहनत करने लगे | इसी दौरान बिल फोर्ड की कंपनी नुकसान में आने लगी और उनकी ब्रांड जैगुआर कार को बिल फोर्ड को रतन टाटा ने खरीदने का प्रस्ताव भेजा और उनकी बिजनेस डील के बाद फोर्ड कह कर गए हैं की यह ब्रांड खरीद कर आप हम पर एहसान कर रहे हैं  | सच यह है कि सफलता ही सर्वश्रेष्ठ प्रतिशोध है |

असम्भव कुछ भी नहीं!- निक व्युजेसिक की इंस्पायरिंग कहानी 

सोर्स – Dr. Vivek Bindra Ji

 Official Facebook Page


Notice: Undefined index: recomendations_protocol in /home/educationhouse/public_html/wp-content/plugins/free-comments-for-wordpress-vuukle/vuukleplatform.php on line 34